दुनिया को जीतने का जज्बा हमेशा सफलता की ओर ले जाता है: श्रीमती सिंधिया

भोपाल के बिशन खेड़ी स्थित मध्यप्रदेश राज्य शूटिंग अकादमी में बुधवार को 3500 से अधिक खिलाड़ियों की उपस्थिति में 64वीं राष्ट्रीय शूटिंग प्रतियोगिता का आगाज हुआ। खेल एवं युवा कल्याण मंत्री श्रीमती यशोधरा राजे सिंधिया की अध्यक्षता में मुख्य सचिव श्री इकबाल सिंह बैंस के मुख्य आतिथ्य में शूटिंग प्रतियोगिता प्रारंभ हुई। पंद्रह दिवसीय इस प्रतियोगिता का आयोजन भारतीय राष्ट्रीय राइफल एसोसिएशन और खेल एवं युवा कल्याण विभाग के संयुक्त तत्वावधान में किया जा रहा है।

जीतने की आग होनी चाहिए

मंत्री श्रीमती यशोधरा राजे सिंधिया ने कहा कि हमें गर्व है कि हमने भोपाल में ऐसी अंतर्राष्ट्रीय स्तर की सुविधा बनाई हैं, जिसकी तारीफ दुनियाभर में है। उन्होंने कहा कि पहुँचने और उसे लगातार मेंटेन करने में बहुत मेहनत लगती है, पर जब हमारे खिलाड़ी राष्ट्रीय-अंतर्राष्ट्रीय बल्कि ओलिंपिक तक अपनी पहचान बनाने में सफल हुए हैं, तो शासन स्तर पर उन्हें हर तरह की सुविधा देने के लिए मैं कटिबद्ध हूँ। हमारे कार्यों में मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने हमेशा आगे बढ़कर सहायता की है। खेल मंत्री ने खिलाड़ियों से कहा कि वे सब भी चिंकी यादव, मनीषा कीर और ऐश्वर्य प्रताप सिंह तोमर (सभी अकादमी के अन्तर्राष्ट्रीय खिलाड़ी) जैसी ख्याति प्राप्त कर सकते हैं, बस अपने अंदर जीत की ज्वाला को हमेशा जलाए रखना होगा। दुनिया को जीतने का जज्बा हमेशा सफलता की ओर ले जाता है।

खेल स्पोर्टिंग स्पिरिट के साथ जीना सिखाता है

मुख्य सचिव श्री इकबाल सिंह बैंस ने कहा कि मध्यप्रदेश राज्य शूटिंग अकादमी को देखकर इस बात को समझा जा सकता है कि कमिटमेंट किसे कहते हैं। उन्होंने कहा कि प्रदेश में शूटिंग के अतिरिक्त अन्य 17 अकादमियाँ संचालित हैं। प्रदेश में खेलों को बेहतर माहौल दिया जा रहा है। खेलों के इतिहास में अब मध्यप्रदेश अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर भी गौरवान्वित हो रहा है। श्री बैंस ने कहा कि जल्द ही मध्यप्रदेश शूटिंग अकादमी के सामने खेल विभाग की 50 एकड़ भूमि पर अंतर्राष्ट्रीय स्तर का स्पोर्ट्स कांपलेक्स बनाया जाएगा। नये काम्पलेक्स में इनडोर फुटबॉल, हॉकी, स्पोर्ट्स साइंस सेंटर की सुविधा उपलब्ध रहेगी। श्री बैंस ने कहा कि खेल से इंसान अपने जीवन में हार कर जीतना सीखता है। हमेशा अपने जीवन को स्पोर्टिंग स्पिरिट के साथ जीना चाहिए, इससे जीवन में बड़ी क्रांति ला सकते हैं। उन्होंने कहा कि स्पोर्ट्समेन क्रिएट करना एक बात है, लेकिन अपने प्रदेश के उत्कृष्ट खिलाड़ी को अंतर्राष्ट्रीय एरीना में प्रजेंट करना बड़ी चुनौती है। खेल मंत्री के नेतृत्व में मध्यप्रदेश ने इस चुनौती को बखूबी निभाया है।

एनआरएआई के सेक्रेटरी जनरल श्री कुंवर सुल्तान सिंह ने कहा कि मध्यप्रदेश राज्य शूटिंग अकादमी एक मिसाल है। अन्य राज्यों को इसी तर्ज पर शूटिंग रेंज और सुविधाएँ तैयार करनी चाहिए। यह अकादमी शूटिंग के लिए एक निर्धारित डेस्टिनेशन बन गई है। श्री सिंह ने कहा कि मध्यप्रदेश राज्य शूटिंग अकादमी में अंतरराष्ट्रीय प्रतियोगिताओं का आयोजन किया जा सकता है।

खेल मंत्री श्रीमती सिंधिया और मुख्य सचिव श्री बैंस ने अकादमी परिसर का इलेक्ट्रिक व्हीकल में बैठ कर निरीक्षण किया। मुख्य सचिव श्री बैंस ने 50 मीटर शूटिंग रेंज टारगेट पर निशाना लगाकर प्रतियोगिता का विधिवत शुभारंभ किया। श्री बैंस ने एनआरआई के पदाधिकारियों श्री राजीव भाटिया और श्री पवन सिंह से राइफल और टारगेट की कार्य-प्रणाली की जानकारी ली। इस दौरान संचालक खेल एवं युवा कल्याण श्री रवि कुमार गुप्ता, हाई परफॉर्मेंस शूटिंग कोच श्री मनशेर सिंह और सुश्री सुमा शिरूर और बड़ी संख्या मे खिलाड़ी और प्रशिक्षक उपस्थित थे।

Leave a Reply