अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद ने सौंपा मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन :-

आज अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद खरगोन द्वारा विश्वविद्यालय के कुलपति चयन में राज्यपाल के एकाधिकार को ख़त्म कर राज्य सरकार के प्रतिनिधि को नियुक्त करने के विरोध में मुख्यमंत्री श्री कमलनाथ जी के नाम कलेक्टर को ज्ञापन सौंपा, यह सर्वविदित है कि महामहिम राज्यपाल प्रदेश का सर्वोच्च विधि सम्मत पद हे जिन्हें संवैधानिक मान्यताओं के अनुरूप राज्य में उच्च शिक्षा की स्वायत्तता और प्रत्यक्ष राजनीतिक हस्तक्षेप से मुक्त रखते हुए शासन की नीतियों की समीक्षा कर उनके क्रियान्वयन के लिए उन्हें विश्वविद्यालय का कुलाधिपती बनाया गया है,उच्च शिक्षा का मूल उद्देश्य ही स्वतंत्र रूप से बिना किसी राजनीतिक एवं शासकीय दबाव के प्रदेश के विद्यार्थियों का सर्वांगीण विकास एवं उच्च शिक्षा में नए लक्ष्यों को प्राप्त करना है जिला संयोजक बंटी मालवीय ने बताया कि कुलपति चयन प्रक्रिया में राज्यपाल को अलग कर राज्य सरकार राजनीतिक हस्तक्षेप बढ़ाना चाहती है इस हस्तक्षेप से विश्वविद्यालय के प्रशासनिक कार्य एवं शिक्षण कार्य प्रभावित होंगे एवं कुलपति की गरिमा को ठेस पहुँचेगी, अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद इस प्रकार के संशोधन का विरोध करती है एवं यह चेतावनी देती हे की अगर विधेयक को विधानसभा में प्रस्तुत किया गया तो विद्यार्थी परिषद तीव्र आंदोलन करने को बाध्य होगी ज्ञापन के दौरान विभाग संयोजक सचिन पाठक जिला संगठन मंत्री हर्षित पण्ड्या, प्रशांत उधले, उज्ज्वल मंडलोई, कृष्णा रघुवंशी, शिवम महाजन,शुभम कर्मा,सौरभ कुशवाह, कृष्णकांत वर्मा इत्यादि नगर के कार्यकर्ता उपस्थित रहे।

Leave a Reply