मानीराम से महराजगंज के लिए नई सड़क बनेगी

गोरखपुर-सोनौली हाईवे पर मानीराम से गांगी बाजार सड़क का चौड़ीकरण और जीर्णोद्धार होने से महराजगंज जाने के लिए एक नई सड़क मिल जाएगी। करीब 17 किलोमीटर लंबी सड़क सात मीटर चौड़ी होगी। इसके निर्माण पर करीब 32 करोड़ रुपये खर्च होंगे। मानीराम से भटहट को जोड़ने वाली सड़क बाईपास के रूप में होगी। लोक निर्माण विभाग ने इस सड़क को लेकर टेंडर निकाल दिया है।


महराजगंज जिले की बड़ी आबादी पनियरा होकर जाती है। अभी तक सकरी सड़क होने से लोगों को काफी दिक्कत होती थी। सात किलोमीटर लंबाई में सड़क 5.50 मीटर चौड़ी है तो वहीं शेष सड़क 3.75 मीटर चौड़ी है। कुल 16.3 किलोमीटर लंबी सड़क मानीराम से शुरू होकर बालापार, टिकरिया, गांगी बाजार होते हुए महराजगंज की सीमा में प्रवेश करेगी। इस सड़क के बनने से गोरक्षपीठ के मेडिकल कॉलेज, प्रस्तावित आयुष विश्वविद्यालय और वेटनरी कॉलेज का रास्ता आसान होगा। मानीराम से महराजगंज चौराहा तक सड़क 5.50 मीटर चौड़ी है। वहीं महराजगंज चौराहा से गांगी बाजार तक करीब 9 किमी लंबाई में सड़क महज 3.75 मीटर चौड़ी है।

1.50 लाख आबादी को होगी सहूलियत

चिलुआताल। सड़क चौड़ीकरण से गोरखपुर और महराजगंज जिले के करीब 40 गांव की करीब डेढ़ लाख आबादी लाभान्वित होगी। सड़क बनने से महराजगंज, परमेश्वरपुर, जीतपुर, रघुनाथपुर, करमऊरा, गांगी बाजार, मुजरी बजार, भवानीपुर, गोनहा आदि के लोगों में खुशी का माहौल है। गोरखपुर से सोनौली रोड और असुरन से परतावल रोड के लिए यह सड़क बाईपास का काम करेगी। भटहट से मानीराम तक करीब 24 किमी लंबा बाईपास हो जाएगा। भटहट से बांसस्थान की तरफ आने वाली सड़क प्रस्तावित सड़क मलंग स्थान पर मिल जाएगी। इससे लाखों आबादी को सहूलियत होगी। बांसस्थान के पास ही आयुष विश्वविद्यालय और वेटनरी कॉलेज भी खुलना प्रस्तावित है। इसे ध्यान में रखते हुए भी यह सड़क काफी महत्वपूर्ण है।


करीब 17 किमी लंबे सड़क के चौड़ीकरण को लेकर वित्तीय मंजूरी मिलने के बाद टेंडर निकाल दिया गया है। इस सड़क पर गोरखपुर के साथ ही महराजगंज जिले की बड़ी आबादी को सहूलियत होगी। भविष्य को देखते हुए सड़क काफी महत्वपूर्ण है। सड़क के लिए विभाग के पास पर्याप्त जमीन है।

Leave a Reply