यूपी में कोरोना की वजह से 31 मार्च तक कक्षा 1 से 8वीं के सभी स्कूल बंद, हर कार्यक्रम के लिए लेनी होगी अनुमति

लखनऊ: उत्तर प्रदेश में कोरोना वायरस एक बार फिर डराने लगा है। तेजी से पांव पसार रहे कोरोना वायरस के संक्रमण को देखते हुए प्रदेश में फिर सतर्कता बढ़ा दी गई है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने उच्च स्तरीय बैठक कर स्पष्ट निर्देश दिया कि किसी कार्यक्रम के आयोजन पर रोक नहीं है, लेकिन जुलूस, कार्यक्रम और सार्वजनिक समारोह के लिए अब प्रशासन की अनुमति जरूर लेनी होगी। इसके साथ ही कक्षा एक से आठ तक के सभी परिषदीय और निजी विद्यालय बुधवार से यानी 24 से 31 मार्च तक, जबकि शेष शिक्षण संस्थान जहां परीक्षाएं नहीं हो रही हैं, वहां 25 से 31 मार्च तक के लिए बंद करने के निर्देश दिए हैं।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अपने सरकारी आवास पर सोमवार को आयोजित उच्चस्तरीय बैठक में कहा कि लोगों को कोरोना संक्रमण से बचाव के संबंध में लगातार जागरूक किया जाए। उन्होंने कहा कि होली सहित अन्य पर्वों, पंचायत चुनाव और विभिन्न राज्यों में कोविड संक्रमण बढ़ने की स्थिति को देखते हुए प्रदेश में विशेष सतर्कता और सावधानी बरती जाए। ग्रामीण क्षेत्रों में प्रत्येक ग्राम पंचायत स्तर पर और शहरों में वार्ड स्तर पर नोडल अधिकारी या कर्मचारी की तैनाती कर दें। ये नोडल अधिकारी सुनिश्चित करेंगे कि उनके क्षेत्र में अन्य राज्यों से आने वाले व्यक्तियों की जांच की जाए।



अयोध्‍या में भीषण हादसे में छह की मौत, ट्रक ट्रेलर ने रोडवेज बसों में मारी टक्कर, सीएम ने जताया दुख
यह भी पढ़ें
हर जिले में एक-एक डेडीकेटेड कोविड हॉस्पिटल : मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि संदिग्ध पाए जाने पर उनके क्वारंटीन की व्यवस्था और आरटीपीसीआर जांच कराई जाए। हर जिले में एक-एक डेडीकेटेड कोविड हॉस्पिटल की उपलब्धता रहे। सीएम योगी ने कहा कि पर्व और त्योहारों पर कोई रोक नहीं है, लेकिन कोविड संक्रमण को देखते हुए लोगों को जागरूक किया जाए। बिना स्थानीय प्रशासन की पूर्वानुमति के कोई भी जुलूस, कार्यक्रम या सार्वजनिक समारोह आयोजित न हो। इन आयोजनों में हाई रिस्क कैटेगरी जैसे दस वर्ष की उम्र से कम के बच्चों, 60 वर्ष से अधिक के वृद्धजन और कोमॉर्बिडिटी मतलब एक से अधिक गंभीर बीमारी से ग्रसित व्यक्तियों को शामिल होने से बचाया जाए। अनुमति के पहले यह सुनिश्चित किया जाए कि आयोजनों में कोविड प्रोटोकॉल, मास्क, शारीरिक दूरी आदि का पूरी तरह पालन हो।

Leave a Reply