प्रदेश में 17 सितंबर से 31 अक्टूबर तक पात्र हितग्राहियों को विभिन्न योजनाओं का लाभ देने चलेगा अभियान

सभी पथ विक्रेताओं को दिया जायेगा संबल योजना का लाभ – बनेंगे उनके संबल कार्ड
भू-माफियाओं के कब्जे से मुक्त कराई जमीनों पर गरीबों के लिए बनेगी सुराज कॉलोनी – मुख्यमंत्री श्री चौहान
स्वावलम्बी और आत्म-निर्भर प्रदेश की अवधारणा को मूर्त रूप दे रही है पथ विक्रेता योजना
मुख्यमंत्री श्री चौहान ने इंदौर में पथ विक्रेताओं के साथ पारिवारिक वातावरण में किया संवाद

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि मध्यप्रदेश शासन का संकल्प है कि लोगों के जीवन में परिवर्तन लाकर उनके चेहरों पर मुस्कान लायी जाये। इस दिशा में केंद्र एवं राज्य सरकार द्वारा कई योजनाएँ संचालित की जा रही हैं। इसका लाभ दिखायी भी दे रहा है। उन्होंने कहा कि ऐसी ही एक पथ विक्रेता योजना है, जो स्वावलम्बी और आत्म-निर्भर प्रदेश की अवधारणा को मूर्त रूप देते हुए हितग्राहियों के जीवन में सकारात्मक बदलाव लाकर उनका जीवन खुशहाल बना रही है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी के जन्म-दिवस 17 सितंबर से विशेष प्रदेश में अभियान शुरू किया जायेगा। इसमें यह सुनिश्चित किया जायेगा कि सभी पात्र हितग्राहियों को योजनाओं का लाभ मिले। हितग्राहियों को रोजी-रोटी, उनके बच्चों के शिक्षण, स्वास्थ्य आदि का सीधा लाभ मिल सके। इसके लिये हर जिले के प्रत्येक वार्ड और पंचायत में शिविर लगा कर पात्र हितग्राहियों को विभिन्न योजनाओं का लाभ दिया जाएगा।

मुख्यमंत्री श्री चौहान आज इंदौर में “मुख्यमंत्री की बात पथ विक्रेताओं के साथ” कार्यक्रम को सम्बोधित कर रहे थे। मुख्यमंत्री ने पारिवारिक वातावरण में पथ विक्रेताओं के साथ रूबरू होकर संवाद किया और उनके अनुभव सुन कर समस्याओं को जाना। जल संसाधन मंत्री श्री तुलसीराम सिलावट, सांसद श्री शंकर लालवानी तथा सुश्री कविता पाटीदार, महापौर श्री पुष्यमित्र भार्गव, विधायक श्री रमेश मेंदोला, श्री आकाश विजयवर्गीय, श्रीमती मालिनी गौड़ तथा श्री महेन्द्र हार्डिया, श्री गौरव रणदीवे, श्री मधु वर्मा, कलेक्टर श्री मनीष सिंह मौजूद थे।

गरीब सम्मान के साथ कर सकें व्यवसाय

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि मध्यप्रदेश की सरकार गरीबों की सरकार है। लोगों की दिनचर्या अगर सामान्य रूप से चल पा रही है, तो उसमें सबसे बड़ा योगदान पथ विक्रेताओं का है। वे अलग-अलग, छोटे-बड़े काम कर प्रदेश के विकास में अपना महत्वपूर्ण योगदान दे रहे हैं। ऐसे सभी पथ विक्रेताओं को संबल प्रदान करने के लिए प्रधानमंत्री स्वनिधि योजना तथा मुख्यमंत्री ग्रामीण पथ विक्रेता योजना शुरू की गई है। उन्होंने बताया कि इंदौर जिले में अभी तक 94 हजार लोगों को इन योजनाओं में लाभ मिल चुका है। शेष रहे पात्र हितग्राहियों को लाभ देने के लिए विशेष शिविर लगाये जाएंगे। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि पथ विक्रेता पूरे सम्मान के साथ अपना व्यवसाय कर सके। इसके लिए सभी जन-प्रतिनिधियों को विशेष प्रयास करने होंगे। उन्होंने इंदौर जिले के जन-प्रतिनिधियों से कहा कि वह जिले में पृथक से ऐसे स्थान चिन्हित करें जहाँ हाथ ठेले वाले पूरे सम्मान के साथ कार्य कर सकें।

जरूरतमंदों के लिये की जायेगी आवास की व्यवस्था

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि हर वर्ग के व्यक्ति को समान अधिकार मिलें, इसके लिए केंद्र एवं राज्य सरकार द्वारा विभिन्न योजनाएँ चलाई जा रही है। गरीबों के लिए रोटी, मकान, स्वास्थ्य और शिक्षा का पूर्ण इंतजाम किया जा रहा है। प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना एवं मुख्यमंत्री अन्न योजना में गरीबों को नि:शुल्क राशन प्रदान किया जा रहा है। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि जो गरीब बरसों से जिस भूमि पर रह रहा था, उसे वहीं का पट्टा देकर जमीन का स्वामी बनाया जाएगा। इसके लिए नियमों में जरूरी संशोधन लाया जाएगा। यदि कोई गरीब किसी सार्वजनिक स्थान पर रह रहा है तो उसे किसी अन्य स्थान पर रहने के लिए आवास प्रदान किया जाएगा। इसके लिए मल्टी स्टोरी बिल्डिंग का भी निर्माण किया जाएगा। उन्होंने बताया कि ग्रामीण क्षेत्रों में सरकारी जमीनों पर प्लॉट काट कर गरीबों को रहने के लिए पट्टे दिए जाएंगे।

माफियाओं से मुक्त कराई गई 21 हजार एकड़ जमीन पर बनेगी सुराज कॉलोनी

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने बताया कि प्रदेश में भू-माफियाओं पर कार्यवाही का सिलसिला सतत रूप से जारी है। माफियाओं के विरूद्ध की गई कार्यवाही में 15 हजार करोड़ रूपए मूल्य की 21 हजार एकड़ जमीन मुक्त कराई गई है। इस जमीन पर सुराज कॉलोनी का निर्माण किया जाएगा, जहाँ गरीबों के लिए मकान बनाए जाएंगे।

पथ विक्रेता के बच्चों के लिए होगी प्रतियोगिता

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कार्यक्रम में विभिन्न पथ विक्रेताओं के बच्चों द्वारा दी गई सांस्कृतिक कार्यक्रमों की प्रस्तुति की सराहना की। उन्होंने कहा कि ऐसे सभी बेटे-बेटियों के लिए मध्यप्रदेश स्थापना दिवस पर सांस्कृतिक कार्यक्रमों की प्रतियोगिता की जाएगी। प्रतियोगिता में बच्चों को उनकी कला प्रदर्शित करने का मौका मिलेगा। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने महू तहसील के ग्राम भगोरा निवासी बालिकाओं द्वारा दी गई प्रस्तुति पर 25 हजार रूपए की सम्मान निधि देने की घोषणा भी की।

मुख्यमंत्री श्री चौहान के साथ पान की गुमटी का व्यवसाय करने वाले दिव्यांग श्री भैयालाल ने संवाद के दौरान कहा कि जब तक मामा है तब तक किसी भी गरीब को किसी प्रकार की चिंता करने की आवश्यकता नहीं है। उन्होंने बताया कि उन्हें मुख्यमंत्री पथ विक्रेता योजना में बिना किसी परेशानी के बैंक से ऋण प्राप्त हुआ।

Leave a Reply