इंडिया मार्ट पर काली मिर्च बेचने के नाम पर 6,94,000/-रूपये की धोखाधडी करने वाले अंतर्राज्यीय ठग को सायबर क्राइम ब्रान्च भोपाल की टीम द्वारा मिर्जापुर उ.प्र.से किया गया गिरफ्तार

सायबर क्राइम ब्रांच, भोपाल

  • काली मिर्च एवं ड्रायफ्रुट के नाम पर पर करते है लोगो से धोखाधडी, अब तक लगभग सैकडो लोगो से धोखाधडी कर चुका है।
  •  आरोपी 1 साल से अधिक समय से कर रहा है धोखाधडी।
  •  आरोपी द्वारा अभी तक विभिन्न राज्यों में की जा चुकी है, लाखो की धोखाधडी।
  •  नोयडा, लखनऊ एवं मिर्जापुर में किराये के मकान लेकर सायबर ठगी का काम करता है।
  •  पुलिस के द्वारा त्वरीत कार्यावाही करते हुए फ्राॅड खाते में 572,000/̶ फ्रिज कराऐ गए थे, जिसका लाभ फरियादी को प्राप्त होगा।



वरिष्ठ अधिकारियों के मार्गदर्षन में सायबर क्राइम ब्रान्च जिला भोपाल की टीम द्वारा इंडिया मार्ट पर काली मिर्च बेचने के नाम पर फरियादी के साथ 6,94,000/-रूपये की धोखाधडी करने वाले आरोपी को दिनांक 02.10.2021 को मिर्जापुर उत्तर प्रदेष से गिरफ्तार किया गया है।

*घटनाक्रम-*

सायबर क्राइम भोपाल में आवेदक जितेन्द्र सक्सेना निवासी भोपाल के द्वारा षिकायत की गई कि इंडिया मार्ट पर जीजे ट्रेडर्स नामक फर्म के संचालक तरूण् ा कुमार से काली मिर्च खरीदने के लिये संपर्क किया गया था जिससे फोन पर तरूण कुमार से 02 टन काली मिर्च खरीदने की बात हुई। जिसमें फरियादी को 340/-प्रति किलो के हिसाब से 02 टन काली मिर्च खरीदने का सौदा तय हुआ और जीजे ट्रेडर्स एवं षिवालिक ट्रेडर्स नामक फर्म के 02 विभिन्न बैंक खातो में फरियादी से कुल 6,94,000/-रूपये धोखाधडी पूर्वक जमा करवा लिया। बैंक से प्राप्त जानकारी के आधार पर बैंक खाता एवं मोबाइल नंबरों के उपयोगकर्ताओं के विरूद्व अपराध क्र-195/2021 धारा 420 भादवि का पंजीबद्व कर विवेचना में लिया गया।

*तरीका वारदातः-* आरोपी इंडिया मार्ट में अपने मोबाइल नंबर जीजे ट्रडर्स के नाम से रजिस्टर्ड करता है और व्यवसायिओं के द्वारा माल खरीदने के लिये संपर्क करने पर उनसे सौदा तय कर लेता था। सौदा तय होने पर 50 प्रतिषत राषि एडवांस पेमेण्ट करने के लिये कहता है, पेमेण्ट होेने पर फर्जी बिल एवं ट्राॅसपोर्ट की फर्जी बिल्टी व्यवसायी को व्हाट्सअप पर भेज कर शेष राषि का भुगतान करने का कहा जाता है। व्यवसायी के द्वारा भुगतान करने पर व्यवसायी का मोबाइल नंबर ब्लाॅक कर देता है ताकि व्यवसायी इनसे पुनः संपर्क नही कर सके। आरोपी द्वारा 1-2 लोगो के साथ धोखाधडी करने के बाद सिम तोडकर फेक दी जाती है ताकि आरोपी पुलिस की गिरफ्त में न आ सके। आरोपी इस तरह की बारदात करने का तरीका नोयडा में रहकर सीखा। आरोपी द्वारा धोखाधडी से प्राप्त किये गये रूपयों का प्रयोग आलीषान मकान गाडी एवं अन्य सुख-सुविधाओं में किया जाता है। आरोपी द्वारा किये गये अन्य अपराधों की जानकारी प्राप्त की जा रही है। आरोपीं द्वारा 10-15 हजार रूपये में खाता धारको से बैंक खाता खरीदा जाता है। आरोपीं द्वारा अभी तक लगभग 10 बैंक खातो का उपयोग ठगी करने में किया गया है।

*पुलिस कार्यवाहीः-* सायबर क्राइम जिला भोपाल टीम द्वारा त्वरीत कर्यावाही करते हुए सायबर फ्राॅड में गई राषी 6,94,000/- में से 572,000/- रू फ्राॅड खाते में फ्रीज कराऐ गए तथा अपराध कायमी के पष्चात तकनीकि एनालिसिस के आधार पर त्वरित कार्यवाही कर आरोपी मो. इरफान को दिनांक 02.10.2021 को मिर्जापरु उत्तर प्रदेष से गिरफतार किया गया है एवं घटना में प्रयुक्त 02 मोबाइल, 01 सिम एवं 02 एटीएम कार्ड को जप्त किया गया है।
पुलिस टीम- सायबर टीम- उनि पारस सोनी, सउनि पी. चिन्नाराव, प्र.आर. प्रतीक, आर. तेजराम सेन, आर. यतिन चैरे, आर. षिवम वर्मा।



*पकडे गये आरोपीगणों का विवरण एवं आपराधिक रिकार्डः-*

क्र नाम आरोपी पूर्व आपराधिक रिकार्ड शिक्षा व्यवसाय जाहिरा व्यवसाय

01 आसिफ उर्फ मो. इरफान निवासी अर्जुनपुर थाना कोतवाली देहात जिला मिर्जापुर —- 12 वी. नोयडा मे फेक्ट्री में काम इंडिया मार्ट के माध्यम से संपर्क करने वाले व्यवसायिओं से फोन पर संपर्क कर, पैसे जमा करवाना एवं खाते में पैसे आने पर तुरन्त एटीएम से पैसे निकालना।

Leave a Reply