इंटरनेशनल-डे ऑफ क्लीन एयर फॉर ब्लू स्कायस् आज



वायु प्रदूषण के खतरों से चेताने होंगे जन-जागरूकता कार्यक्रम

मध्यप्रदेश प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड ने प्रदेश के सभी क्षेत्रीय अधिकारियों को ‘अन्तर्राष्ट्रीय नील गगन के लिये स्वच्छ वायु दिवस’ (इंटरनेशनल-डे ऑफ क्लीन एयर फॉर ब्लू स्कायस्) – 7 सितम्बर को जन-जागरूकता कार्यक्रम आयोजित करने के निर्देश दिये हैं। वायु प्रदूषण के कारण पर्यावरण और मानव स्वास्थ्य पर गंभीर विपरीत प्रभावों को देखते हुए यूनाइटेड नेशन एनवायरमेंट प्रोग्राम द्वारा 19 दिसंबर 2019 को संकल्प पारित कर 7 सितम्बर को ‘इंटरनेशनल-डे ऑफ क्लीन एयर फॉर ब्लू स्कायस्’ आयोजित करने का निश्चय किया गया। पहली बार 7 सितम्बर 2020 को आयोजित पहले कार्यक्रम की थीम “क्लीन एयर फॉर ऑल” थी, इस बार का विषय, ‘हेल्दी एयर, फॉर हेल्दी प्लेनेट’ होगा।

अपर मुख्य सचिव श्री मलय श्रीवास्तव ने क्षेत्रीय अधिकारियों से कहा है कि शहरों में बढ़ते वायु प्रदूषण तथा जलवायु परिवर्तन के कारणों से आम जनता को जागरूक करने अधिकतम लोगों की सहभागिता के साथ वेबीनार आयोजित करें। परिवेशीय वायु गुणवत्ता में सुधार लाने की दृष्टि से “नॉन अटेनमेंट सिटी” के लिये बनाये गये एक्शन प्लान के क्रियान्वयन से भी लोगों को परिचित कराएँ। इससे लोगों में वायु प्रदूषण से स्वास्थ्य संबंधी दुष्प्रभावों की जानकारी के साथ ही प्रदूषण नियंत्रण में सहयोग की भावना भी बढ़ेगी।

उल्लेखनीय है कि केन्द्रीय पर्यावरण, वन तथा जलवायु परिवर्तन मंत्रालय द्वारा शहरी वायु गुणवत्ता में सुधार लाने के लिये “नेशनल क्लीन एयर प्रोग्राम” चलाया जा रहा है। इसमें देश के 132 शहरों में से मध्यप्रदेश के 6 शहर भोपाल, इंदौर, उज्जैन, ग्वालियर, सागर एवं देवास शामिल हैं। इन शहरों की वायु गुणवत्ता में सुधार के लिये कार्य-योजना बनाकर क्रियान्वयन किया जा रहा है। प्रदेश के प्रमुख शहरों में परिवेशीय वायु गुणवत्ता मापन का कार्य किया जा रहा है।

Leave a Reply