मिलावट से मुक्ति अभियान अंतर्गत कलेक्टर ने सभी अधिकारियों की विशेष बैठक आयोजित

मिलावट से मुक्ति अभियान अंतर्गत जिले में दो दिवसीय सक्रिय अभियान चलाये – कलेक्टर श्री पुष्प

शहर में अखाद्य पदार्थों के विक्रय पर पूर्ण प्रतिबंध लगाया जाए

मंदसौर – कलेक्टर श्री मनोज पुष्प की अध्यक्षता में मिलावट से मुक्ति अभियान अंतर्गत कलेक्टर चेंबर में विशेष बैठक आयोजित की गई। बैठक के दौरान उन्होंने सभी अधिकारियों को सख्त निर्देश देते हुए कहा कि जिले में दो दिवस में विशेष अभियान चलाकर कार्यवाही करें। सभी अधिकारी कार्यवाही करके रिपोर्ट शाम तक प्रस्तुत करेंगे। इस अभियान में सभी एसडीएम कोर्डिनेट भी करेंगे। बैठक के दौरान पुलिस अधीक्षक श्री सिद्धार्थ चौधरी, सीईओ जिला पंचायत श्री ऋषव गुप्ता, अपर कलेक्टर श्री बी एल कोचले, मंदसौर एसडीएम वीरप्रताप सिंह, फूड विभाग, जिला आपूर्ति विभाग, सीएमएचओ, पशुपालन विभाग, उद्यानिकी विभाग, नगर पालिका सीएमओ, कृषि विभाग, पीएचई एवं अन्य अधिकारी उपस्थित थे।कलेक्टर श्री पुष्प ने बैठक के दौरान पशुपालन विभाग को निर्देश देते हुए कहा कि ऐसी दवाई है जो प्रतिबंधित है एवं जिनका मार्केट में विक्रय होता है। उन पर तुरंत रोक लगाई जाए। सभी प्रकार के मिलावटी पावडर की दुकानों को भी चेकिंग की जाए। उनकी सघन जांच की जाए। अप्राकृतिक तरीके से दूध बढ़ाने वाली दवाइयों का सख्ती से प्रतिबंध लगाए।मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी को निर्देश देते हुए कहा कि जिला अस्पताल एवं संबंधित सभी सरकारी अस्पतालों में जितनी भी दवाई है। उनका स्टॉक वेरिफिकेशन किया जाए। ऐसी दवाई जो एक्सपायरी डेट है उनको तुरंत बाहर किया जाए। पर्याप्त मात्रा में एंट्री भी दर्ज करें। इसके साथ ही जितना भी स्टाफ है उसकी साफ सफाई व्यवस्था का भी एक बार निरीक्षण किया जाए। इस संबंध में ड्रग इस्पेक्टर को निर्देश देते हुए कहा कि जिले में जितनी भी दवाइयों की दुकान है। सभी का लाइसेंस चेक किया जाए। एक्सपायर डेट की दवाइयां हैं। उनको भी देखा जाए। अयोग्य दवाइयों का उपयोग ना हो इसके लिए विशेष अभियान चलाया जाए तथा प्रतिदिन शाम को रिपोर्ट प्रेषित करें।

Leave a Reply