सरस्वती विद्यालय उमरियापान में मनाया गया शिक्षक दिवस

कटनी -उमरियापान-गुरु कुम्हार सिष कुम्भ है,गढ़ -गढ़ काढ़े खोट।
अंतर हाथ साहर दे,बाहर मारे चोट।।
शिष्य के प्रति कठोर व्यवहार कर उसकी कमियां बताता है लेकिन अंतर्मन से उसे सहलाता है जिससे वह एक अच्छा इंसान बन सके।
उक्त उद्गार संस्था प्राचार्य ने किशोर-भारती सभा द्वारा आयोजित शिक्षक दिवस पर भैया-बहिनो के सन्मुख रखे।
दीप प्रज्ज्वलन एवम माँ सरस्वती की वंदना के साथ कार्यक्रम प्रारंभ हुआ।इस अवसर पर डॉ राधाकृष्णन जी के जीवन वृत को बहन कल्पना लखेरा ने प्रकाश डाला साथ ही भैया शिवा असाठी ने उनके जीवन से सम्बंधित अनेक प्रेणना दाई प्रसंगों को भी रखा।
आचार्य श्री राजेश मिश्रा एवम श्री रामस्वरूप परौह जी ने भी अपने सारगर्भित उद्बोधन भैया बहनो को समक्ष रखे।
किशोर भारती सभा द्वारा विद्यालय के आचार्यों का सम्मान श्री फल एवम स्मृति चिन्ह के साथ किया।संचालन भैया हार्दिक दीक्षित ने किया आभार हर्ष पौराणिक ने किया।किशोर भारती के सभी भैया बहनो का विशेष योगदान कर्यक्रम को सफल बनाने में रहा।

Leave a Reply