केंद्रीय मंत्री डॉ जितेंद्र सिंह ने कहा पिछले आठ वर्षों में मोदी सरकार के कार्यकाल के दौरान देश के सुदूर इलाकों में विकास हुआ है डॉ जितेंद्र सिंह ने उधमपुर के समीप पंचेरी में सांकरी मंदिर में दर्शन करने के बाद एक विशाल जनसभा को संबोधित किया डॉ. जितेंद्र सिंह ने पंचेरी में सांसद निधि से निर्मित सामुदायिक भवन जनता को समर्पित किया

केंद्रीय मंत्री डॉ. जितेंद्र सिंह ने आज उधमपुर, कठुआ, डोडा को पिछले आठ वर्षों में मोदी सरकार के कार्यकाल के दौरान देश के सबसे विकसित लोकसभा निर्वाचन क्षेत्रों में से एक बताया और कहा कि इस अवधि के दौरान क्षेत्र के दूरदराज इलाकों तक विकास पहुंचा है, जो पिछली सरकारों के दौरान उपेक्षित रह गया था।

https://i0.wp.com/static.pib.gov.in/WriteReadData/userfiles/image/3MB7Z.jpg?w=810&ssl=1

डॉ. जितेंद्र सिंह ने पंचेरी में सांकरी मंदिर में दर्शन करने के बाद एक विशाल जनसभा को संबोधित करते हुए कहा कि यह इसलिए संभव हो सका क्योंकि प्रधानमंत्री मोदी के नेतृत्व में बिना किसी वोट की चाहत के विकास करना हमारा आदर्श रहा है। उन्होंने कहा कि हम किसी भी स्थान पर आवश्यक चीजों को उपलब्ध कराने वाली संस्कृति का पालन करते हैं जिससे प्रत्येक क्षेत्र का विकास एकसमान रूप से हो सके और ऐसा करते समय हम बिना किसी का तुष्टिकरण किए हुए, बिना वोट की राजनीति पर विचार करते हुए और यह सोचे बिना कि उस क्षेत्र के लोग हमें वोट देते हैं या नहीं क्षेत्र के सबसे जरूरतमंद इलाकों तक पहुंचने और सभी को न्याय दिलाने के लिए सबसे निचली रेखा का पालन करते हैं।

https://i0.wp.com/static.pib.gov.in/WriteReadData/userfiles/image/2Z2DQ.jpg?w=810&ssl=1

इस अवसर पर डॉ. जितेन्द्र सिंह ने सांसद निधि से तैयार किया गया सामुदायिक भवन जनता को समर्पित किया। उन्होंने कहा कि पंचेरी में उनकी पिछली यात्रा के दौरान लोगों की तीन या चार प्रमुख मांगें थीं, जिनमें से अधिकांश को पूरा कर दिया गया है जिनमें से एक सामुदायिक भवन की मांग भी थी।

उन्होंने कहा कि दूसरी मांग पंचेरी को एक पर्यटन स्थल के रूप में विकसित करने की थी और यह मांग भी पूरी की जा चुकी है क्योंकि पंचेरी को जम्मू-कश्मीर के उन स्थानों की सूची में रखा गया है जो पर्यटन यात्रा कार्यक्रम में शामिल होने वाले है। उन्होंने कहा कि इन पर्यटन केंद्रों का निर्माण करने के लिए एक पर्यटन हब की अन्य मांग भी पूरी की जा चुकी है, जबकि नई विद्युत परियोजना की स्थापना करने से घंटों बिजली कटौती की पूरानी शिकायतें भी दूर हो जाएगी, जिसका सामना स्थानीय लोगों को पहले करना पड़ता था।

पिछले आठ वर्षों में उधमपुर, कठुआ और डोडा लोकसभा क्षेत्र में किए गए 75 महत्वपूर्ण विकास कार्यों पर आधारित पैम्फलेट का उल्लेख करते हुए, डॉ. जितेन्द्र सिंह ने कहा कि इसकी विशिष्टता यह रही है कि न केवल अनेक राष्ट्रीय परियोजनाओं की शुरूआत की गई है और कई रुकी हुई परियोजनाओं की शुरूआत फिर से की गई है बल्कि यहां पर ऐतिहासिक परियोजनाएं भी लाई गई है, जिनके लिए कोई सार्वजनिक मांग नहीं की गई थी, लेकिन निर्वाचित प्रतिनिधि होने के नाते हमने यह निर्धारित करने के लिए अध्ययन और अनुसंधान करने की कोशिश किया कि किस क्षेत्र में किस परियोजना के लिए क्षमता मौजूद है।

डॉ. जितेन्द्र सिंह ने कहा कि उत्तर भारत की पहली नदी संरक्षण परियोजना उधमपुर में देविका नदी में शुरू की गई और दिल्ली और कटरा के बीच भारत का सबसे लंबा एक्सप्रेस सड़क कॉरिडोर अगले एक वर्ष में पूरा कर लिया जाएगा। इसी प्रकार, देश की दूसरी वंदे भारत एक्सप्रेस ट्रेन कटरा और दिल्ली के बीच शुरू की गई और रियासी में दुनिया की सबसे ऊंचा रेलवे पुल लगभग पूरा होने वाला है, जिसके लिए उपयुक्त रेल संरेखण के साथ आने की दिशा में बहुत प्रयास किए गए जो कश्मीर को शेष भारत से जोड़ने के लिए पहाड़ी इलाके पर संपर्क कर सके।

डॉ जितेंद्र सिंह ने कहा कि  संभवतः उधमपुर, कठुआ, डोडा देश का एकमात्र लोकसभा निर्वाचन क्षेत्र है, जिसे इतने कम समय में तीन केंद्रीय वित्तपोषित मेडिकल कॉलेज प्राप्त हुए हैं।

इस अवसर पर उधमपुर डीडीसी चेयरमैन लाल चंद, जम्मू-कश्मीर भाजपा उपाध्यक्ष पवन खजुरिया और बीडीसी चेयरमैन जीवन लाल ने भी अपने विचार रखे और सांसद के रूप में डॉ. जितेंद्र सिंह के कार्यकाल के दौरान इस क्षेत्र में हुए बड़े पैमाने पर विकास की सराहना की।

Leave a Reply