पचमढ़ी में मैराथन का तृतीय संस्करण आयोजित, प्रतिभागियों को किया पुरस्कृत

पचमढ़ी प्रदेश का नंबर 1 टूरिज्म स्पॉट : श्री एस विश्वनाथन

प्रदेश के खूबसूरत हिल स्टेशन पचमढ़ी के नैसर्गिक सौन्दर्य और प्राकृतिक वातावरण से पर्यटकों को रू-ब-रू कराने तथा पर्यटन के लिए अधिक से अधिक सैलानियों को आकर्षित करने के उद्देश्य से मध्यप्रदेश टूरिज्म बोर्ड द्वारा “पचमढ़ी मैराथन” का तृतीय संस्करण आयोजित किया गया। राज्य पर्यटन विकास निगम के प्रबंध निदेशक श्री एस. विश्वनाथन ने कहा कि मैराथन के आयोजन से प्रदेश में स्वास्थ्य पर्यटन (वेलनेस टूरिज्म) एवं एक्टिव हॉलीडेज कांसेप्ट को बढ़ावा देने का एक सार्थक प्रयास किया जा रहा है। पचमढ़ी प्रदेश का नंबर वन टूरिज्म स्पॉट है। यहाँ साल भर सभी मौसम चाहे सर्दी हो या बरसात, देश के कोने-कोने से सैलानी आते हैं और प्राकृतिक सुंदरता का लुत्फ उठाते हैं। श्री विश्वनाथन ने कहा कि पचमढ़ी में प्रोफेशनल मैराथन आयोजित किए जाने की कार्य-योजना तैयार की जा रही है। उन्होंने पचमढ़ी में पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए जिला प्रशासन द्वारा किए जा रहे प्रयासों की भी सराहना की।

तीन श्रेणियों में आयोजित हुई मैराथन, विजेताओं को फ्री स्टे वाउचर

मैराथन को तीन श्रेणियों 5 कि.मी., 10 कि.मी. और 21 कि.मी. में आयोजित किया गया। इन श्रेणियों को फैमिली फन रन,‘एंड्योरेंस रन और धूपगढ़ पहाड़ी रन नाम दिया गया। टूरिज्म बोर्ड ने मैराथन में भाग लेने वाले सभी धावकों को टी-शर्ट, आरएफआईडी टाइमिंग चिप, रूट सपोर्ट, फिनिशर्स मेडल और ई-सर्टिफिकेट प्रदान किए। साथ ही प्रतियोगिता के शीर्ष तीन धावकों को अतिथियों ने ट्रॉफी और दो रात्रि और तीन दिवस के फ्री स्टे वाउचर प्रदान किये गए।

मैराथन के पहले संस्करण की अपार सफलता से प्रतिवर्ष मैराथन का सिलसिला शुरू

मैराथन का पहला संस्करण वर्ष 2018 में 22 जुलाई को आयोजित किया गया था, जिसमें लगभग 800 पर्यटकों ने भाग लिया। प्रथम संस्करण की अपार सफलता के बाद इस मैराथन को मध्यप्रदेश पर्यटन बोर्ड द्वारा एक वार्षिक कार्यक्रम के रूप में प्रतिवर्ष आयोजित करने का निर्णय लिया गया। इसका दूसरा संस्करण वर्ष 2019 में 21 जुलाई को आयोजित किया गया, जिसमें लगभग 800 -1000 पर्यटकों ने हिस्सा लिया। कोविड-19 महामारी के दृष्टिगत वर्ष 2020 में इस मैराथन आयोजन नहीं हो सका था।

कोविड प्रोटोकॉल के तहत आयोजित हुई मैराथन

मैराथन में कोविड-19 को ध्यान में रखते हुए समस्त बचाव और सुरक्षा निर्देशों का पालन कर सीमित प्रतिभागियों के साथ आयोजित की गयी। भाग लेने वाले सभी पर्यटकों को पूर्ण रूप से कोविड वैक्सीनेटेड होना और कोविड टेस्ट की नेगेटिव रिपोर्ट प्रस्तुत करना अनिवार्य था।

इस अवसर पर कमांडेंट एईएस सेंटर पचमढ़ी ब्रिगेडियर श्री गिरीश गर्ग, कलेक्टर होशंगाबाद श्री नीरज कुमार सिंह, फील्ड डायरेक्टर सतपुड़ा टाइगर रिजर्व श्री एल. कृष्णमूर्ति सहित पर्यटन विभाग और जिला प्रशासन के अधिकारी-कर्मचारी उपस्थित रहे।

Madhya Pradesh Tourism

Leave a Reply