शर्मिष्ठा बैद्या ने अपने दिवगंत पति के जन्म दिवस पर बच्चों को स्टेशनरी का सामान बांटा

डीजी न्यूज इंडिया
मन्दसौर से ब्यूरो चीफ
मंगल देव राठौर की खास रिपोर्ट
मो.+918305357955

छतिसगढ़/आज इस कोरोनावायरस वायरस ने ना जाने कितनो के अपनों को उनसे दूर कर दिया,कितनो के घरों के चिराग बुझ गए, उन्हीं में से एक है शर्मिष्ठा जी जिनका विवाह विमल जी से 23/6/1994 को हुआ था ,सब कुछ बेहतर चल रहा था जीवन में ,पर अचानक हस्ता खेलता परिवार उस वक्त बिखर गया जब कुछ दिन पहले ही अपने पति विमल बैद्य को कोरोनावायरस की वजह से खो दिया,पर कहते है ना जो अपने होते हैं वो भले ही शारीरिक रूप से साथ नहीं ,पर हमेशा दिल के करीब होते है,शर्मिष्ठा जी ने अपने पति के इच्छा अनुसार, 24 अगस्त को शर्मिष्ठा जी अपने पति को याद करते हुए तालापारा में एक रुपया मुहिम फ्री टयूशन क्लास के बच्चों के बीच केक काट कर उनका जन्म दिवस मनाया तथा उपहार स्वरूप बच्चों को स्टेशनरी का सामान कॉपी, पेंसिल, पेन, क्रेयन कलर,रबर,के साथ चॉकलेट बांटा ताकि जरूरतमंद बच्चें अपनी पढ़ाई पर हमेशा ध्यान दें,
इस अवसर पर स्वर्गीय विमल जी की धर्मपत्नी के साथ उनका बेटा इंद्रनील एवं उनकी बहन साधना गुप्ता उपस्थित रहे और भावपूर्ण श्रद्धांजलि अर्पित किया

Leave a Reply