मैनिट मे ‘एनवायरमेंटल मैनेजमेंट स्ट्रैटेजिस’ पर कार्यशाला संपन्न हुई

मानव संसाधन विकास मंत्रालय के निर्देशानुसार “स्वच्छता ही सेवा है” थीम पर मौलाना आजाद राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय भोपाल के ऊर्जा केंद्र में  पांच दिवसीय कार्यशाला का आयोजन किया गया । 30 अक्टूबर से  4 नवंबर तक चली एनवायरमेंटल मैनेजमेंट स्ट्रैटेजिस विषय आधारित इस कार्यशाला के कोऑर्डिनेटर सिविल इंजीनियरिंग डिपार्टमेंट के प्रोफेसर डॉ. एच. एल. तिवारी, ऊर्जा केंद्र की प्रोफेसर डॉ. मीना अग्रवाल  और मैकेनिकल इंजीनियरिंग डिपार्टमेंट के प्रोफेसर डॉ. राजेश गुप्ता जी रहे । इस वर्कशॉप में विभिन्न संस्थानों से आये विषय विशेषज्ञों  ने प्रतिभागियों को पर्यावरण से संबंधित एक्सपर्ट लेक्चर दिए ।  पर्यावरण सुरक्षा एवं जागरूकता  पर आधारित इस वर्कशॉप में विभिन्न प्रतियोगिताएं भी रखी गई। मैनिट संस्थान के 67 छात्रों ने इस कार्यशाला में भाग लिया । पोस्टर एंड स्लोगन प्रतियोगिता आयोजित की गई, जिसमें ‘पर्यावरण सुरक्षा सॉल्यूशंस’ पर फोकस रहा । ‘प्लास्टिक फ्री इंडिया’ थीम पर निबंध लेखन  प्रतियोगिता का आयोजन भी कार्यशाला अंतर्गत किया गया । कार्यशाला के समापन सत्र में रायपुर एग्रीकल्चर विश्वविद्यालय से आए हुए डॉ. जितेंद्र सिन्हा जी ने अपने ‘प्लास्टिक मल्चिंग’ के शोध कार्य के बारे में जानकारी दी । ‘जल शक्ति अभियान’ के तहत नेशनल इंस्टिट्यूट ऑफ हाइड्रोलॉजी के सीनियर साइंटिस्ट डॉ.आर. के. जायसवाल ने प्रतिभागियों को जल संचय की अत्याधुनिक तकनीकों के बारे में बताया । एनवायरमेंटल मैनेजमेंट स्ट्रैटेजिस की कार्यशाला के अंतर्गत एक साइलेंट रैली का भी आयोजन किया गया, जिसमें ‘स्वच्छता ही सेवा है’ का संदेश दिया गया। संस्थान के डायरेक्टर डॉ. एन. एस. रघुवंशी जी ने भी इस रैली में हिस्सा लेकर छात्रों का मनोबल बढ़ाया । कार्यशाला के छात्र समूहों ने राहुल नगर स्लम एरिया में जाकर स्वच्छता का संदेश दिया एवं पर्यावरण सुरक्षा के लिए पॉल्यूशन के मध्य सॉल्यूशंस देने में यह कार्यशाला कारगर रही । पर्यावरण प्रबंधन, सुरक्षा एवं जागरूकता  की इस कार्यशाला को सफल बनाने में मैनिट के सीनियर रिसर्च स्कॉलर एवं पर्यावरणविद् संजीव कुमार भूकेश  एवं जनसेवी राजकुमार मालवीय  ने  अहम भूमिका निभाई । मैनिट के डीन (स्टूडेंट्स वेलफेयर) डॉ. जे. एल. भगोरिया की अध्यक्षता में यह कार्यशाला संपन्न हुई । कार्यशाला के को-चेयरमैन डॉ. आर. के. मंडलोई रहे ।

Leave a Reply