राष्ट्रीय स्तर पर जुलाई माह में प्रधान मंत्री मातृ वंदना योजना में मध्यप्रदेश का रहा सबसे बेहतर प्रदर्शन

  • 147 प्रतिशत उपलब्धि अर्जित की



प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना में राष्ट्रीय स्तर पर मध्यप्रदेश ने जुलाई माह में सबसे बेहतर प्रदर्शन कर प्रथम स्थान प्राप्त किया है। मध्यप्रदेश ने योजना में 147 प्रतिशत उपलब्धि अर्जित की है। जुलाई माह में प्रदेश के लगभग 22 लाख 57 हज़ार 791 हितग्राहियों को 10, 916 लाख रूपये का मातृत्व लाभ वितरित किया गया। इस योजना में जुलाई माह में मातृत्व लाभ वितरित करने में भी मध्यप्रदेश अव्वल रहा है।

भारत सरकार द्वारा 1 जनवरी 2017 से प्रारम्भ की गई प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना प्रदेश के सभी जिलों में राष्ट्रीय सुरक्षा अधिनियम 2013 के तहत लागू की गयी है। योजना का उद्देश्य गर्भवती महिलाओं को मजदूरी की हानि की आंशिक क्षतिपूर्ति के रूप में नगद प्रोत्साहन प्रदान करना है, जिससे महिलाओं को प्रथम बच्चे के प्रसव के पूर्व और बाद में पर्याप्त आराम मिल सके। नगद प्रोत्साहन राशि के माध्यम से गर्भवती महिलाओं एवं धात्री माताओं के स्वास्थ्य सम्बन्धी व्यवहारों में सुधार लाना भी योजना का उद्देश्य है।

प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना में समस्त गर्भवती महिलाओं और धात्री माताओं को प्रथम जीवित बच्चे पर निर्धारित शर्तों की पूर्ति के बाद प्रति हितग्राही 5 हज़ार रूपये तीन किश्तों में दिए जाते है। पहली किश्त 1 हज़ार रूपये आँगनवाड़ी केंद्र पर गर्भावस्था का शीघ्र पंजीयन करने पर, द्वितीय किश्त 2 हज़ार रूपये प्रसव पूर्व जाँच करने और गर्भावस्था के छः माह पूर्ण होने पर तथा 2 हज़ार रूपये की तीसरी किश्त बच्चे के जन्म का पंजीकरण एवं बच्चे के प्रथम चक्र के टीकाकरण पूर्ण होने पर डी.बी. टी. के माध्यम से सीधे उनके आधार लिंक्ड बैंक या पोस्ट ऑफिस खाते में प्रदान करने का प्रावधान है।

Leave a Reply