स्वर्णिम विजय मशाल अंडमान एवं नीकोबार द्वीप समूह के मायाबंदर पहुंची


अंडमान एवं नीकोबार कमान (एएनसी) के संयुक्त सैन्य साइकिल अभियान विजय मशाल लेकर पहुंचा

  • मशाल को किशोरी नगर में गर्वनमेंट सीनियर सेकेंडरी स्कूल ले जाया गया
  • 1971 के युद्ध में भारत की विजय की याद में दल ने बच्चों को जागरूक किया
  • साइकिल अभियान दल ने चार दिन में 300 किलोमीटर से अधिक का फासला तय किया




अंडमान एवं नीकोबार कमान (एएनसी) का संयुक्त सैन्य साइकिल अभियान स्वर्णिम विजय वर्ष की याद में विजय मशाल लेकर आठ अगस्त, 2021 को मायाबंदर पहुंच गया। साइकिल अभियान दल ने चार दिनों में 300 किलोमीटर से अधिक की दूरी तय की। विजय मशाल को किशोरी नगर स्थित गर्वनमेंट सीनियर सेकेंडरी स्कूल ले जाया गया, जहां जिला प्रशासन के अधिकारियों, सशस्त्र बलों के पूर्व सैनिकों और स्कूल के प्राचार्य ने उसकी अगवानी की। विजय मशाल की शान में स्कूली बच्चों ने एक सांस्कृतिक कार्यक्रम भी प्रस्तुत किया।


साइकिल अभियान दल ने 1971 की जंग में भारत की विजय के बारे में बच्चों को जागरूक करने के लिये एक ऑडियो-विजुअल प्रस्तुतिकरण भी दिया। साइकिल अभियान दल ने बच्चों को प्रोत्साहित किया कि वे शस्त्र बलों में शामिल हों तथा रोमांच और खेलों को अपने जीवन का अहम हिस्सा बनायें। दल ने पूर्व सैनिकों, स्कूल के अधिकारियों और बच्चों को स्मारक-चिह्न भी भेंट किये।


साइकिल अभियान नौ अगस्त, 2021 को दिगलीपुर के स्पोर्ट्स स्टेडियम में पहुंचकर पूरा हो जायेगा।

Leave a Reply