कृषि उद्यानिकी के वरिष्ठ अधिकारियों पर उठे सवालिया निशान

देवरी ऑर्चर्ड मुरैना में फर्जी गौशाला के नाम पर राशि भुगतान करने वाले अधिकारी कर्मचारियों पर कार्यवाही क्यों नहीं

मुरैना—–देवरी ऑर्चर्ड में हुए फर्जीवाड़े पर वरिष्ठ अधिकारियों की चुप्पी सवालिया निशान खड़े करती हुई नजर आ रही है जहां पर शिकायत कर्ता द्वारा काफी समय पहले शिकायत करने के बावजूद भी आज दिनांक तक किसी भी प्रकार की कोई कार्यवाही भ्रष्टाचारियों पर नहीं की गई है इससे स्पष्ट होता है कि शायद उद्यानिकी के वरिष्ठ अधिकारियों की मिलीभगत से ही फर्जीवाड़ा हुआ था आपको बता दें कि देवरी ऑर्चर्ड एबी रोड मुरैना पर गौशाला बताकर गौशाला के नाम से फर्जी बिल भुगतान कर खाद के लिए राशि निकाली गई जो कि शासन के साथ धोखाधड़ी है जब गौशाला ही नहीं तो आखिर खाद कहां डाला गया इस प्रश्न का उत्तर देने में उद्यानिकी के वरिष्ठ अधिकारी आनाकानी करने में लगे हुए हैं जबकि इस फर्जीवाड़े की सूचना प्रबंध संचालक मध्यप्रदेश भोपाल एवं संयुक्त संचालक ग्वालियर एवं उद्यानिकी अधीक्षक मुरैना को भी की गई लेकिन आज दिनांक तक किसी भी कार्यवाही को अंजाम नहीं दिया जाना उद्यानिकी के वरिष्ठ अधिकारियों पर प्रश्न चिन्ह खड़ा करता है जहां पर संयुक्त संचालक ग्वालियर द्वारा बताया गया है कि मुरैना के अधिकारियों को पत्र लिखकर कार्यवाही करने के लिए रिपोर्ट मांगी गई है लेकिन मुरैना के अधिकारी बताते हैं कि हमारे पास किसी भी प्रकार की कोई सूचना नहीं आई है इस प्रकार कार्यवाही भ्रष्टाचारियों पर न करते हुए शिकायतकर्ता को भी गुमराह किया जा रहा है जिससे स्पष्ट होता है कि मामला ठंडे बस्ते में उद्यानिकी के अधिकारियों ने डाल दिया है इस प्रकार उद्यान की के वरिष्ठ अधिकारियों द्वारा भ्रष्टाचारियों को बचाने का प्रयास किया जा रहा है इसलिए आज दिनांक तक किसी भी कार्यवाही को अंजाम नहीं दिया गया है जबकि शिकायतकर्ता द्वारा निरंतर संयुक्त संचालक ग्वालियर व उद्यानिकी अधीक्षक मुरैना से कार्यवाही करने की गुहार लगाते हुए दफ्तरों के चक्कर लगाए जा रहे हैं लेकिन उद्यानिकी के वरिष्ठ अधिकारियों के कानों तक जूं नहीं रेंग रही है अब देखना यह है कि क्या उद्यानिकी के वरिष्ठ अधिकारी भ्रष्टाचारियों के विरुद्ध कार्यवाही करने की हिम्मत जुटा पाएंगे या इसी तरह मामले को ठंडे बस्ते में डालकर भ्रष्टाचारियों को बचाने के प्रयास में ही लगे रहेंगे। इनका कहना है कि,

मेरे द्वारा असिस्टेंट डायरेक्टर को दो पत्र दिए गए हैं उद्यानिकी अधीक्षक अभी तक अवकाश पर थे अब उन्होंने ज्वाइन कर लिया है उनको रिपोर्ट जल्दी देना चाहिए लेकिन अगर रिपोर्ट नहीं आई है तो मैं पुनः पत्र जारी कर रिपोर्ट मांगेंगे और रिपोर्ट जैसे ही आती है बिल्कुल हमारे द्वारा कार्यवाही की जाएगी। संयुक्त संचालक कृषि उद्यानिकी ग्वालियर

Leave a Reply