आओ एक दूसरे का हाथ थामे टांग नहीं, आओ देश को जोड़े तोड़े नहीं — परमार्थ न्यास
निष्काम कर्मयोगी कुलदीप सक्सेना का हुआ सम्मान

आओ एक दूसरे का हाथ थामे टांग नहीं, आओ देश को जोड़े तोड़े नहीं — परमार्थ न्यास
निष्काम कर्मयोगी कुलदीप सक्सेना का हुआ सम्मान

मुरैना —- जिला मुख्यालय पर मेजर राम कुमार शर्मा परमार्थ न्यास में प्रभु श्री सीताराम जी की पूजा अर्चना, रामचरित मानस का पाठ एवं 47 मरीजो ने अपना परीक्षण करा के उपचार कराया, विषय बार मरीजो की संख्या इस प्रकार रही -दन्त रोग20, मेडिसिन21, नाक कान गला4, सर्जरी0 अस्थि रोग1, नैत्र रोग1 अन्य उक्त शिविर में विशेष रूप से निम्न कार्य सम्पादित किये गए -दांतों के सेट 0, ब्लड प्रेसर की जाँच 5, गर्दन के मरीजो को ट्रैक्शन 0, ई.सी.जी 0, इंडियन डेंटल एसोसिएशन के तहत तम्बाखू, बीड़ी, सिगरेट, शराब से ग्रसित मरीज 0 नशा छोड़ने का संकल्प लिया47, फिजियोथेरेपी मशीन से उपचार0 ,अकुप्रेसर से उपचार 0, एम्स में पंजीयन0, इसके अलावा स्व. अंकित जैन स्मृति दन्त चिकित्सा कक्ष मे- दांत शल्य क्रिया0, अल्ट्रासोनिक मशीन से पायिरिया का इलाज़0, परमार्थ न्यास में आँखों की डिजिटल जांच की सुविधा स्व. प्रकाश शर्मा स्मृति कक्ष मे प्रारंभ हुई जिसमे – आँखों की जाँच 0 एवं इलेक्ट्रिकल लैंप के माध्यम से चश्मे का नंबर प्रदान किये। होमियोपैथी चिकित्शा का भी मरीजो ने लाभ लिया एवं चिकित्सक द्वारा निशुल्क दवाई भी प्रदान की गई। डिप्रेशन,एन्जाइटी,फोबिय जैसे मानसिक रोगियों की काउंसिलिंग कर साइको थैरेपीप्रदान की गई है। निष्काम भाव से सेवको ने सेवा की। डॉ संजय शर्मा, कुलदीप सक्सेना, मयूर अग्रवाल, अरुण पात्रे, सिमरन आदि ने नि:शुल्क सेवाए प्रदान की।
प्रत्येक रविवार की तरह सभी समाजसेवियो ने अपनी सेवायें परमार्थ न्यास में यथावत प्रदान की।भगवान स्वरूप में पधारे हुये सभी मरीजों ने अपना ईलाज कराया। वर्तमान परस्तिथियो में इस आपदा की घड़ी में जब सारे विश्व सहित भारतवर्ष में त्राहिमाम् – त्राहिमाम् का स्वर सुनाई दे रहा है और शासन- प्रसाशन और सामाजिक संस्थाए अपने कार्य को पूर्ण स्वरूप प्रदान करते हुए कोशिश कर रहे हैं ऐसी स्थिति में एक दूसरे की आलोचना करना उचित नहीं है या एक दूसरे की टांग खीचना उचित नहीं है। जब तक सब लोग एक दूसरे का सम्मान करते हुए, एक दूसरे के हाथ से हाथ मिलाकर इस आपदा की घड़ी में एक साथ खड़े नहीं होंगे जब तक इस आपदा से मुक्ति पाना संभव नहीं है। इसिलिए हम सब देश को जोड़ने का काम करे, देश को तोड़ने का नहीं। यह संदेश आज परमार्थ न्यास ने अपनी सेवा के दोरान दिया। वही आज परमार्थ न्यास के एक जो कर्मठ व्यक्तितव जो निष्काम कर्मयोगी है जिन्होंने पिछले और इस वर्ष के कोरोना के संक्रमण के समय कभी भी अवकाश नहीं लिया और निरंतर वे सेवा के अवसरों को ढुंढते रहते हैं श्री कुलदीप सक्सेना जी का परमार्थ न्यास में सम्मान किया गया और ईश्वर से प्राथना की गयी कि ऐसे निष्काम कर्मयोगी हमेशा आपके श्री चरणो में स्थान ग्रहण करे। सेवा करते हुए लोग शाश्किये सेवक के रूप में या राजनेतिक रूप में या सामाजिक रूप में सेवा करते हैं ये सारी सेवाएं जब एक साथ जुड़ जाए और सबका भाव पवित्र हो उस पवित्रता के भाव से जुड़ने के बाद वो सेवा भक्ति बन जाती हैं और यही आज इस आपदा से निकलने का मार्ग हैं। इसिलिए सभी से यह निवेदन किया गया कि इस समय सब लोग जुड़कर प्रयास करे तो बहुत जल्द ही हम इस आपदा से मुक्ति पा लेंगे। आज 47 मरीजों का उपचार हुआ और 5 सेवक उपस्थित रहे और सभी लोगों ने यह संकल्प किया कि हम ना नशा करेंगे, ना किसी को करने देंगे और साथ ही इस आपदा की घड़ी में जहाँ जितना हो सकेगा हम सेवा करने का प्रयास करेंगे। आज 85 वर्षीय श्री जैन साहब जो पत्रकारता के क्षेत्र में एक स्तंब हैं आज परमार्थ न्यास मे पधारे और उन्होंने सभी को आशीर्वाद दिया। उनको सांस फूलने की शिकायत थी उनको नेब्युलाइज़र मशीन द्वारा नेब्युलाइ किया गया एवं निशुल्क दवाई प्रदान की गयी। वही जैन साहब ने कहा कि परमार्थ न्यास की सेवा देखकर मेरा शरीर रोमांचित हो गया है और मेरे पास कोई शब्द नहीं है कि मैं इसका वर्णन किन शब्दों में कर सकूँ। लेकिन ईश्वर से प्राथना करूंगा कि अगले जन्म में मुझे भी इस तरह की सेवा करने का वे अवसर प्रदान करे ।
जरूरमंदो के लिए एक पहेल –
हमारा परमार्थ न्यास किचन रेस्टोरेंट के बगल में शर्मा डेंटल क्लिनिक के ऊपर हर रविवार गरीबों व जरूरतमंदो को निशुल्क उपचार, दवाईयां और कपड़े उपलब्ध कराता है। अगर किसी के घर में जो दवाईयां और कपड़े उपयोग में ना हो वो लोग गरीबों व जरूरतमंदो के उपयोग हेतु हमे प्रदान कर सकते हैं या स्वयं शर्मा डेंटल क्लिनिक या परमार्थ न्यास पर आकर स्वयं दान दे सकते हैं। आपकी एक पहल जरूरतमंदो के बहुत काम आएगी।
• सभी शहर वासियों से निवेदन है कि इस डीप फ्रीजर का उपयोग आवश्यकता होने पर किसी भी समय परमार्थ न्यास से संपर्क किया जा सकता है। आवश्यकता पड़ने पर इन नंबरों 9827090180 , 8602434147 पर संपर्क कर सकते है।
• अत्याधुनिक एंबुलेंस जिसमे कार्डियक् मॉनिटर लगा हुआ है इस एंबुलेंस का उपयोग आवश्यकता होने पर किसी भी समय परमार्थ न्यास से संपर्क किया जा सकता है। आवश्यकता पड़ने पर इन नंबरों 9827090180 , 8602434147 पर संपर्क कर सकते है।

About अनिरुद्ध त्रिपाठी ग्वालियर

View all posts by अनिरुद्ध त्रिपाठी ग्वालियर →

Leave a Reply