गरीबों को तो छोड़िए अमीर ही कर रहे शासकीय भूमि पर अतिक्रमण

शासकीय कर्मचारी होने के बाद भी अतिक्रमण जोरों शोरों से उफाने ले रहा है।

DG NEWS NARSINGHGAR

जैसे कि सरकारी कर्मचारी के बदले वह शासकीय जमीनों के मालिक बन बैठे हो।

नरसिंहगढ़ से अंकिता जोशी की रिपोर्ट

नरसिंहगढ़ । मामला नरसिंहगढ़ की शिक्षक कॉलोनी क्षेत्र का है जहां पर अधिकतर वर्ग शासकीय नौकरियों में कार्यरत हैं अधिकतम आए हैं लेकिन फिर भी अतिक्रमण करने से बाज नहीं आ रहे।
जमीन वन विभाग और राजस्व दोनों की है।
कुछ हद तक सीमाएं अलग-अलग है लेकिन अधिकारी एक-दूसरे पर इन बातों को डोलते नजर आते हैं एक कहता है यह वन विभाग का मामला है । और एक कहता है । कि यह राजस्व विभाग का मामला है । ऐसे में खुलेआम शासकीय कर्मचारियों द्वारा शासकीय जमीनों पर बट्टे बिठाये जा रहे हैं।
वन विभाग की जमीन पर लोग पर्सनल गार्डन बना रहे हैं । साथ झुग्गी झोपड़ी भी बना डाली।
लाखों की कार तो ले ली लेकिन घर में कार रखने के लिए जगह नहीं मिली तो शासकीय जमीन पर कब्जा कर धुआंधार गाड़ी रखने के गैराज सरकारी जमीन पर बना लिए। अगर शासकीय कर्मचारी ही अतिक्रमण करते रहेंगे तो यह अधिकारी आम जनता को किस मुंह से प्रताड़ित करते हैं । क्या नियम कानून सिर्फ गरीबों के लिए हैं । या आम आदमी के लिए हैं बाकी लोग तो अतिक्रमण कर मजे ले रहे हैं

Leave a Reply