ओडिशा के झारसुगुडा स्थित वीर सुरेंद्र सांई एयरपोर्ट पर उड़ान उत्सव मनाया गया


प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने भारतीय वायु क्षेत्र का लोकतंत्रीकरण किया है: केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री श्री ज्योतिरादित्य एम. सिंधिया

श्री सिंधिया ने कहा कि झारसुगुडा हवाई अड्डा सहकारी संघवाद का एक आदर्श उदाहरण है

आजादी का अमृत महोत्सव के अवसर पर होने वाले उड़ान उत्सव समारोह में बुजुर्गों और बच्चों के लिए विशेष जॉय राइड की व्यवस्था की जाएगी: श्री सिंधिया

केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री, श्री ज्योतिरादित्य एम. सिंधिया ने सोमवार को ओडिशा के झारसुगुडा स्थित वीर सुरेंद्र सांई हवाई अड्डे पर उड़ान उत्सव समारोह के अवसर पर कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने भारतीय वायु क्षेत्र का लोकतंत्रीकरण किया है।

उन्होंने कहा कि झारसुगुडा हवाई अड्डे का विकास सहकारी संघवाद का एक आदर्श उदाहरण है और उड़ान योजना की एक बड़ी सफलता की कहानी बताती है। उन्होंने कहा कि यह इस बात का उदाहरण है कि केंद्र और राज्य मिलकर संयुक्त कार्य के माध्यम से किस प्रकार से चमत्कार कर सकते हैं।

श्री सिंधिया ने कहा कि जहां पूरे देश के सभी हवाई अड्डों पर कोविड महामारी के दौरान उड़ान भरने वाले यात्रियों की संख्या में भारी गिरावट देखी जा रही थी, वहीं झारसुगुडा हवाई अड्डा उन कुछ हवाई अड्डों में से एक था, जिसने कुछ अलग देखा। उन्होंने कहा, “महामारी के दौरान पूरे देश में उड़ान भरने वाले यात्रियों की संख्या में 62 प्रतिशत की गिरावट देखी गई जबकि इसी दौरान झारसुगुडा में यह गिरावट केवल 5 प्रतिशत हुई। उन्होंने कहा, यह बड़े पैमाने पर जिले और क्षेत्र की क्षमता को दर्शाता है।“

पिछले कुछ वर्षों में उड़ान योजना की सफलता के बारे में बोलते हुए श्री सिंधिया ने कहा कि आजादी के बाद से देश में केवल 72 हवाई अड्डे थे जबकि 2014 के बाद प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के सक्षम नेतृत्व में अब हवाई अड्डों की संख्या 136 हो चुकी है। उन्होंने कहा, “हमने अगले पांच वर्षों में इस संख्या को 220 तक लेकर जाने का लक्ष्य निर्धारित किया है जिसमें हेलीपैड और वाटर एरोड्रम भी शामिल होंगे। उड़ान योजना के कारण पिछले कुछ वर्षों में एयरलाइनों, मार्गों की संख्या में भी काफी बढ़ोत्तरी हुई है।

झारसुगुडा की समृद्ध भूमि की महिमा का गुणगाण करते हुए और इसे बड़े पैमाने पर ओडिशा और भारत का पावर हाउस बताते हुए, श्री सिंधिया ने कहा कि जो स्थान कई वीर स्वतंत्रता सेनानियों, प्राकृतिक और सांस्कृतिक संसाधनों का घर रहा है, उसे उड़ान उत्सव मनाने के लिए उपयुक्त रूप से चुना गया है। श्री सिंधिया ने उड़ान उत्सव समारोह के दौरान बुजुर्गो और बच्चों के लिए विशेष जॉय राइड, एक हवाई सवारी की भी घोषणा की, जिसमें वर्तमान में चल रहे आजादी का अमृत महोत्सव भी मनाया जाएगा।

ओडिशा में हवाई अड्डे के विस्तार के बारे में बात करते हुए श्री सिंधिया ने कहा कि पुरी में ग्रीनफील्ड हवाई अड्डे और झारसुगुडा में वीर सुरेंद्र सांई हवाई अड्डे के दूसरे चरण का विस्तार राज्य सरकार की ओर से प्राप्त प्रतिक्रियाओं के बाद शुरू होगा।


कार्यक्रम के दौरान श्री सिंधिया ने हवाई अड्डे के निदेशकों/अधिकारियों और उड़ान के लाभार्थी यात्रियों से बातचीत की जो वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से देश के विभिन्न हिस्सों से जुड़े हुए थे। श्री सिंधिया ने इंडियन स्कूल ऑफ बिजनेस द्वारा आयोजित उड़ान योजना के सामाजिक-आर्थिक प्रभाव अध्ययन रिपोर्ट का भी अनावरण किया। उनके सामने उड़ान और मेक माई ट्रिप के बीच साझेदारी समझौते का आदान-प्रदान भी हुआ। इस अवसर पर उड़ान लोगो प्रतियोगिता के परिणाम की भी घोषणा की गई। श्री सिंधिया ने आरसीएस योजना के अंतर्गत शिलांग और दीमापुर के बीच नए हवाई मार्ग को हरी झंडी भी दिखाया।

सोमवार को आयोजित किए गए इस कार्यक्रम में सुंदरगढ़ के सांसद श्री जुएल उरांव, बारगढ़ के सांसद श्री सुरेश पुजारी, राज्य परिवहन विभाग मंत्री श्री पद्मनाभ बेहरा, विधायक ब्रजराजनगर श्री किशोर कुमार महांती, एयरपोर्ट अथॉरिटी ऑफ इंडिया के अध्यक्ष श्री संजीव कुमार, नागरिक उड्डयन मंत्रालय के सचिव श्री राजीव बंसल और एयरपोर्ट के अन्य वरिष्ठ अधिकारी मौजूद थे।

Leave a Reply