प्रीतम सिवाच अकादमी ‘खेलो इंडिया महिला हॉकी लीग (अंडर-16)’ के पहले चरण में अव्वल रही

प्रीतम सिवाच हॉकी अकादमी, सोनीपत ने मंगलवार को मेजर ध्यानचंद नेशनल स्टेडियम में संपन्न ‘खेलो इंडिया महिला हॉकी लीग (अंडर-16)’ के पहले चरण में शीर्ष स्थान हासिल किया है। कुलदीप सिवाच द्वारा प्रशिक्षित इस अकादमी की लड़कियों ने अपने सभी 7 पूल गेम +134 के अविश्वसनीय गोल अंतर के साथ जीते; इस टीम को कुल 21 अंक अर्जित करने के दौरान केवल तीन बार हार स्‍वीकार करनी पड़ी।

एचएआर हॉकी अकादमी, हरियाणा ने दूसरा स्थान हासिल किया, जबकि मध्य प्रदेश हॉकी अकादमी तीसरे स्थान पर रही। इन दोनों ने ही 19-19 अंक अर्जित किए, लेकिन एचएआर अकादमी ने बेहतर गोल अंतर दर्ज किया।

 

https://i0.wp.com/static.pib.gov.in/WriteReadData/userfiles/image/image001H7YM.jpg?w=810&ssl=1

पहले चरण में सात दिनों के दौरान कुल मिलाकर 56 मैच खेले गए, जिनमें कुल 16 टीमों ने भाग लिया। सब जूनियर महिलाओं के लिए अपनी तरह की इस अनूठी हॉकी लीग को तीन चरणों में आयोजित किया जाना है। भारतीय खेल प्राधिकरण ने इस हॉकी लीग के 3 चरणों के लिए कुल 53.72 लाख रुपये की धनराशि आवंटित की है, जिसमें 15.5 लाख रुपये की पुरस्कार राशि शामिल है।

3 चरणों के बाद विजेता टीम को 5 लाख रुपये का नकद पुरस्कार दिया जाएगा।

प्रीतम सिवाच अकादमी की बालिकाओं द्वारा किए गए उत्‍कृष्‍ट प्रयासों का उल्‍लेख करते हुए कुलदीप सिवाच ने कहा, ‘मेरी टीम ने बहुत अच्छा प्रदर्शन किया और हर जीत के बाद उन्हें काफी प्रेरणा मिली। तरह-तरह की खामियों का पता लगाने और उन्‍हें दूर करने के लिहाज से यह सबसे अच्छी प्रतियोगिताओं में से एक थी। ये जीत बालिकाओं को आगे चलकर अपने देश के लिए खेलने का विश्वास दिलाने और निरंतर कड़ी मेहनत करने के लिए प्रेरित करेंगी। हमें यह प्रतिष्ठित प्लेटफॉर्म देने के लिए मैं साई और हॉकी इंडिया का धन्यवाद करता हूं।’

हॉकी अकादमी के प्रेरणा स्रोत रहे पूर्व अर्जुन और द्रोणाचार्य पुरस्कार विजेता प्रीतम सिवाच ने यह भी कहा कि अंडर-16 प्रतियोगिता बालिकाओं को खेलो इंडिया योजना का हिस्सा बनने के लिए पूरी तरह से तैयार कर देगी। प्रीतम सिवाच ने कहा, ‘अंडर-16 बालिकाओं के उत्‍कृष्‍ट प्रदर्शन वाले इस तरह के प्रतिस्पर्धी माहौल को देखना अविश्वसनीय था। मैं अंडर-16 बालिकाओं के लिए इस तरह का प्रतिस्पर्धी माहौल सुनिश्चित करने के लिए साई और हॉकी इंडिया का धन्यवाद करता हूं।

हमारे यहां अंडर-21 के लिए भी एक टूर्नामेंट आयोजित किया गया था और मैं बालिकाओं को अपनी प्रतिभा दिखाने के लिए इस महान अवसर को संभव बनाने के लिए सरकार का धन्यवाद करता हूं। हमारे यहां इस स्तर पर बहुत कम प्रतियोगिताएं आयोजित की जाती हैं और बालिकाएं खेलो इंडिया योजना में शामिल होने और भविष्य में देश के लिए खेलने के लिए केवल इस तरह की प्रतियोगिताओं से ही लाभान्वित हो सकती हैं।’

खेलो इंडिया महिला हॉकी लीग (अंडर-16) का दूसरा चरण अब अक्टूबर में उत्तर प्रदेश के लखनऊ में आयोजित होने वाला है।

Leave a Reply