Rajya Sabha Election 2022: मध्य प्रदेश से राज्यसभा चुनाव में कांग्रेस और बीजेपी के उम्मीदवार निर्विरोध निर्वाचित, ये रहा उच्च सदन का गणित

MP News: एमपी विधानसभा में 230 सदस्य हैं. इसमें 127 सदस्य बीजेपी, 96 कांग्रेस, 2 बीएसपी,1 सपा और 4 निर्दलीय हैं. प्रदेश में राज्यसभा की 11 सीटें हैं. इनमें से 8 बीजेपी और 3 सीटें कांग्रेस के पास हैं.

जबलपुर: मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) से राज्य सभा (Rajya Sabha) की तीन सीटों के चुनाव के परिणाम शुक्रवार को आ गया. बीजेपी (BJP) को दो सीटों पर और एक सीट पर कांग्रेस (Congress) को निर्विरोध जीत मिली है. शुक्रवार को नाम वापसी का अंतिम दिन था, लेकिन बीजेपी और कांग्रेस उम्मीदवारों के अलावा किसी और ने नामांकन दाखिल नहीं किया था, इस वजह से उन्हें विजयी घोषित कर दिया गया. इस चुनाव में कांग्रेस के विवेक तन्खा, बीजेपी की सुमित्रा वाल्मीकि और कविता पाटीदार विजय घोषित की गई हैं.

क्या था चुनाव का कार्यक्रम

चुनाव आयोग के निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार 31 मई नामांकन की अंतिम तारीख थी. उस दिन तक दोनों पार्टियों की ओर से अधिकृत केवल तीन ही उम्मीदवारों के नामांकन पत्र जमा कराए थे. तीन जून को नाम वापसी का अंतिम दिन था. किसी के नामांकन वापस न लेने से बीजेपी की सुमित्रा वाल्मीकि और कविता पाटीदार व कांग्रेस के विवेक तंखा का निर्विरोध निर्वाचन तय हो गया.

विकेक तन्खा राज्यसभा के लिए लगातार दूसरी बार चुने गए हैं. उनका कार्यकाल अगले महीने खत्म हो रहा था. कांग्रेस ने उनपर भरोसा जताते हुए एक बार फिर राज्य सभा भेजा है. वहीं जबलपुर की सुमित्रा वाल्मीकि और इंदौर की कविता पाटीदार पहली बार राज्य सभा के लिए चुनी गई हैं. दलित और पिछड़े समाज से आने वाली ये दोनों नेता बीजेपी की स्थानीय स्तर की नेता हैं. बीजेपी ने उन्हें राज्य सभा चुनाव का उम्मीदवार बनाकर चौंका दिया था.

 

चुनाव के लिए बीजेपी की रणनीति

बीजेपी ने जिस तरह से ओबीसी और दलित समाज की दो महिलाओं को टिकट दिया, उससे इस साल होने वाले गुजरात के चुनाव और अगले साल होने वाले मध्य प्रदेश विधानसभा के चुनाव की रणनीति नजर आती है. कविता पाटीदार को टिकट देकर बीजेपी ने गुजरात के पाटीदार मतदाताओं को भी साधने की कोशिश की है. वहीं ओबीसी मध्य प्रदेश में भी बड़ा वोट बैंक है. बीजेपी के इस कदम का उसे प्रदेश में हो रही पंचायत और नगरीय निकाय चुनाव और विधानसभा चुनाव में फायदा हो सकता है.

मध्य प्रदेश की विधानसभा का गणित

मध्य प्रदेश विधानसभा में 230 सदस्य हैं. इसमें 127 सदस्य बीजेपी, 96 कांग्रेस, 2 बहुजन समाज पार्टी,1 समाजवादी पार्टी और 4 निर्दलीय सदस्य हैं. प्रदेश में राज्यसभा की 11 सीटें हैं. इनमें से 8 सीटें बीजेपी और 3 सीटें कांग्रेस के पास हैं. इनमें से ही तीन सीटें 29 जून को खाली हो रही हैं. इसमें बीजेपी के एमजे अकबर और संपतिया उइके व कांग्रेस से विवेक तनखा शामिल हैं. विधायकों के मौजूदा संख्या बल के अनुसार दो सीटें बीजेपी और एक कांग्रेस को मिली हैं.

उच्च सदन में कांग्रेस और बीजेपी

मध्य प्रदेश की कुल 11 राज्य सभा सीटों में से मौजूदा समय में बीजेपी के पास आठ और कांग्रेस के पास तीन सीटें हैं. इसमें बीजेपी से ज्योतिरादित्य सिंधिया, एल मुरुगन और धर्मेंद्र प्रधान, एमजे अकबर, अजय प्रताप सिंह, कैलाश सोनी, सुमेर सिंह सोलंकी और संपतिया उइके राज्यसभा सदस्य हैं. वहीं कांग्रेस के दिग्विजय सिंह, विवेक तन्खा और राजमणि पटेल ज्यसभा सदस्य हैं.

Leave a Reply