युवाओं ने टंट्या भील के शाहदत दिवस पर किया माल्यार्पण

DG NEWS RAJGARH

राजगढ़ से कल्पना कीर कु रिपोर्ट

राजगढ़, ब्यावरा । नगर के युवाओं द्वारा टंट्या भील (मामा) की पुण्यतिथि मां वैष्णदेवी धाम परिसर में मनाई। सर्वप्रथम माल्यार्पण एवं पूजा-अर्चना किया उनके जीवन पर प्रकाश डाला, युवा राम भील ने टंट्या मामा के विचारों एवं सिद्धान्तों पर प्रकाश डालते हुए कहा, आजादी के संघर्ष में टंट्या मामा एक ऐसे योद्धा रहे हैं, जिन्होंने उस समय की विपरीत परिस्थितियों में जंगलों में रहकर अंग्रेजी हुकूमत को ध्वस्त किया । यह योद्धा अंग्रेजी हुकूमत की आंख में चुभने लगे एवं अंग्रेजों एवं साहूकार की तमाम कोशिशों के बावजूद जब फिरंगियों की एक भी योजना सफल नहीं हुई तब फिरंगी सरकार ने उन पर राजद्रोह का मामला लगाया, उनके जीवन के बारे में जितना अध्ययन किया जाए उतना कम है। यह बात अंग्रेजों ने भी मानी और उन्हें रबिनहुड की उपाधि दी। आज भी टंट्या भील को निमाड़ मालवा सहित आदिवासी समाज में लोकगीतों के माध्यम से उन्हें व उनके शौर्य को याद किया जाता है। टंट्या भील ने अपने साथियों के माध्यम से अंग्रेजों से लूटा हुआ अनाज एवं कपड़े आदि जरूरतमंद लोगों में बांटे जिसके चलते गरीब लोगों के लिए वे मसीहा से कम नहीं थे, इसीलिए लोगों ने उन्हें मामा की उपाधि दी ऐसे क्रांतिवीर योद्धा के जीवन से प्रेरणा लेकर हम यहां प्रेरणा राष्ट्र भाव की सेवा के लिए प्रेरित करती है। इस अवसर पर सांसद प्रतिनिधि पंडित अमित शर्मा,राजेश शर्मा,राजू यादव, अपील अवस्थी चंदन जादौन, सत्येंद्र सेंगर,अमित शर्मा,एलकार राव, गिरराज लववंशी, आशु खस, आकाश, समर्थ,प्रशांत आदि युवा उपस्थित रहे। इसी अवसर पर स्थानीय पीजी कॉलेज भी युवा एंव खिलाडियों ने टंट्या भील की पुण्यतिथि मनाई। यहां क्रीड़ा अधिकारी मोहम्मद सैफी,श्याम भील,अजय ठाकुर,कृष्णा शाक्यवार, आकाश जाट,राहुल भील,रवि भिलाला, शुभम सोनी,गौतम शर्मा, डीपी दांगी, दीपक, अरविंद यादव, दुर्गेश, नीलेश आदि युवा एवं खिलाड़ी उपस्थित रहे।

Leave a Reply