राजगढ़ जिले में रायल्टी के नाम पर फर्जी रसीदें देकर कर रहे अवैध वसूली

DG NEWS RAJGARH

राजगढ़ से कल्पना कीर की रिपोर्ट

राजगढ़ । रेत परिवहन के दौरान रायल्टी की रसीदें प्रदान करने के नाम पर रेत ठेकेदार द्वारा अवैध तरीके से फर्जी रसीदें प्रदान की जा रही। जो रसीदें दी जा रही है उन्हें रायल्टी बताकर प्रदान कर रहे हैं, लेकिन प्रशासन ने उन रसीदों को रायल्टी की रसीदें मानने से इंकार कर दिया है। जिले में हरदिन 5 लाख के लगभग राशि की अवैध वसूली की जा रही है। यह शिकायत ग्रामीणों ने कलेक्टर व खनिज अधिकारी से की है। रेत के कारोबार से जुड़े ग्रामीणों ने राजगढ़ पहुंचकर शिकायत करते हुए कहा कि नरसिंहगढ़ तहसील सहित जिलेभर में रेत के शासकीय ठेकेदार द्वारा अवैध रूप से रसीदें काटी जा रही है। कहा कि हम लोग रेत का विक्रय करते हुए परिवार का भरण पोषण करते हैं। रेत लेकर बाजार जाने के दौरान 1200 रुपये की रसीदें काटी जाती है। लेकिन वह रसीदें रायल्टी की न होकर फर्जी है। ठेकेदार के लोग रायल्टी का बोलकर जो रसीदें देते हैं वह रायल्टी की रसीदें न होकर फर्जी हैं। उन रसीदों को प्रशासन द्वारा मानने से इंकार किया जाता है। ऐसे में जब रायल्टी की रसीदें नही है तो फिर ठेकेदार हर ट्राली पर 1200-1200 रुपये क्यों ले रहा है। ओर यदि रायल्टी के नाम पर राशि वसूल की जा रही है तो फिर उन्हें रायल्टी क्यों नहीं माना जा रहा है। शिकायत करने वालों में प्रहलादसिंह, जगदीश, सुरेश, अनवर खान, विक्रमसिंह, राकेश दांगी, दिलीप, महेश, राधेश्याम, भारतसिंह, महेश, विजय, दिनेश, इमरत, गोपालसिंह, जगदीश, कमलेश, लाखनसिंह, विजयसिंह, दुलीचंद्र प्रजापति सहित अन्य ग्रामीणजन शामिल है ।

Leave a Reply