मुंगावली मिनी स्मार्ट सिटी के कार्य जनोपयोगी और गुणवत्तापूर्ण हों – राज्य मंत्री श्री यादव निर्माण कार्यों की समीक्षा बैठक में दिये निर्देश

निर्माण कार्य की गुणवत्ता ही लम्बे समय तक उसे जनोपयोगी बनाये रखती है। इसलिये बहुत जरूरी है कि निर्माण के समय विभागीय इंजीनियर और एजेंसी गुणवत्ता का पूरा ध्यान रखें। मुंगावली मिनी स्मार्ट सिटी के कार्यों की कलेक्टर सभाकक्ष अशोकनगर में समीक्षा के दौरान लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी राज्य मंत्री श्री बृजेन्द्र सिंह यादव ने अधिकारियों को निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि सभी कार्य मार्च 2022 तक पूरे किये जाना सुनिश्चित करें।

राज्य मंत्री श्री यादव ने मुख्य नगर पालिका अधिकारी को निर्देश दिये कि मिनी स्मार्ट सिटी मुंगावली के सभी निर्माण कार्यों का परीक्षण इंजीनियर से कराने के बाद ही नगरपालिका उन्हें से अपने आधिपत्य में ले। उन्होंने कहा कि इंजीनियर द्वारा यदि किसी कार्य की रिपोर्ट संतोषजनक नहीं पाई जाती है, तो निर्माण एजेंसी से उस कार्य को पुन: करवाया जाये। राज्य मंत्री ने कहा कि गुणवत्ता और डिजाइन में किसी प्रकार का समझौता अथवा अनदेखी बर्दाश्त नहीं की जायेगी।

इसके साथ ही राज्य मंत्री श्री यादव ने नाला निर्माण, रोड साइड डे-शेल्टर, बॉयो टॉयलेट, हाट-बाजार, सिद्धेश्वर पार्क, जेल तालाब विसर्जन कुण्ड, भुजरिया तालाब सौंदर्यीकरण, रामलीला मंच, जय स्तम्भ चौराहा के निर्माण, लाइटिंग और प्लांटेशन के कार्यों की विस्तार से समीक्षा की। बैठक में कलेक्टर श्रीमती आर. उमामहेश्वरी, एसडीएम, सीएमओ नगर परिषद मुंगावली श्री विनोद उन्नीतान, मिनी स्मार्ट सिटी के अधिकारी और इंजीनियर्स उपस्थित रहे।

Leave a Reply