रक्षा सचिव और सऊदी अरब के रणनीतिक मामलों के उप रक्षा मंत्री ने द्विपक्षीय रक्षा सहयोग को बढ़ाने के तरीकों के बारे में विचार-विमर्श

5वीं भारत-सऊदी अरब रक्षा सहयोग संयुक्त समिति की बैठक नई दिल्ली में आयोजित हुई

उन्होंने दोनों देशों के बीच रक्षा सहयोग बढ़ाने के तरीकों के बारे में विचार-विमर्श किया। श्री अहमद ए. असीरी ने रक्षा सचिव को 29 जून, 2022 को आयोजित 5वीं भारत-सऊदी अरब रक्षा सहयोग संयुक्त समिति (जेसीडीसी) की बैठक के बारे में जानकारी दी।

जेसीडीसी बैठक की सह-अध्यक्षता संयुक्त सचिव (सशस्त्र बल) श्री दिनेश कुमार और श्री अहमद ए. असीरी ने की थी। बैठक के दौरान दोनों पक्षों ने दोनों सेनाओं के बीच संयुक्त अभ्यास, विशेषज्ञों के आदान-प्रदान और उद्योग सहयोग सहित संबंधों में हुई प्रगति की समीक्षा की। रक्षा उद्योग सहयोग बढ़ाने के लिए संयुक्त उद्यम हेतु नए रास्तों की पहचान करने और पारस्परिक हित के क्षेत्रों की जांच करने का निर्णय लिया गया। मौजूदा संयुक्त नौसैनिक अभ्यासों का दायरा और जटिलताओं को बढ़ाने तथा अन्य क्षेत्रों में द्विपक्षीय अभ्यासों के विस्तार के बारे में भी विचार-विमर्श किया गया।

यह भी सहमति व्यक्त की गई है कि जेसीडीसी की अगली बैठक का आयोजन वर्ष 2023 में पारस्परिक रूप से सुविधाजनक तिथियों पर सऊदी अरब में किया जाए। जेसीडीसी भारत और सऊदी अरब के रक्षा मंत्रालयों के बीच एक शीर्ष निकाय है जो द्विपक्षीय रक्षा सहयोग के सभी पहलुओं की व्यापक समीक्षा और मार्गदर्शन करता है।

उप मंत्री ने चेयरमैन चीफ ऑफ स्टाफ कमेटी (सीआईएससी) के चीफ ऑफ इंटरग्रेटेड डिफेंस स्टाफ के साथ भी बातचीत की। प्रतिनिधिमंडल के लिए एक रक्षा उद्योग बातचीत भी आयोजित की गई जिसमें कई भारतीय रक्षा उद्योगों ने भाग लिया।

Leave a Reply