गरीबों का राशन किसी को खाने नही देंगें- मुख्यमंत्री
मुख्यमंत्री ने कमिश्नर्स, कलेक्टर्स एवं पुलिस अधीक्षक कान्फ्रेंस में योजनाओं की समीक्षा

झाबुआ । प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि प्रदेश में राशन दुकानों के माध्यम से गरीब और कमजोर तबके के लोगों को राशन वितरण की व्यवस्थाओं को और अधिक बेहतर बनाया जाए। मुख्यमंत्री ने कहा कि राशन वितरण व्यवस्था को और अधिक बेहतर और पारदर्शी बनाने के उददेश्य से राशन दुकानों की रेंडम जांच की जाए। मुख्यमंत्री ने कहा कि कमिश्नर्स, कलेक्टर्स एवं अन्य अधिकारी राशन दुकानों की रेंडम ली जांच करें और राशन वितरण व्यवस्था को और अधिक बेहतर से बेहतर बनाने का प्रयास करें। मुख्यमंत्री ने कहा कि भ्रमण के दौरान उन्हें प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना और मुख्यमंत्री अन्नपूर्णा योजना के अन्तर्गत राशन नही मिलने की शिकायतें मिली थी, शिकायतों की जांच कराई गई तथा अनियमितता करने वाले कर्मचारियों के विरूद्व कार्यवाही की गई है। मुख्यमंत्री ने कहा कि किसी भी स्थिति में गरीबों का राशन किसी को खाने नही देंगे। उन्होंने निर्देश दिए कि गरीब और कमजोर तबके के लोगों के लिए विभिन्न योजनाओं के तहत जो राशन वितरण किया जाता है इस राशन वितरण व्यवस्था को और अधिक बेहतर बनाया जाए। मुख्यमंत्री ने कहा कि भ्रमण के समय वह स्वयं राशन दुकानों का आकस्मिक निरीक्षण करेंगे और अनियमितताएं पाए जाने पर कार्यवाही भी करेंगे।मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान आज कमिश्नर्स, कलेक्टर्स कॉन्फ्रेंस में अधिकारियों को निर्देशित कर रहे थें। मुख्यमंत्री ने कहा कि मध्यप्रदेश में नागरिकों को शुद्व और गुणवत्तायुक्त खाद्यान्न सामग्री उपलब्ध होना चाहिए। उन्होंने कहा कि मिलावटी वस्तुएं बेचकर लोगों की जिदंगी से खेलने वालों के विरूद्व सख्त कार्यवाही होना चाहिए। मुख्यमंत्री ने निर्देश दिए कि प्रदेश के नागरिकों को शुद्व और गुणवत्तायुक्त खाद्यान्न सामग्री उपलब्ध हो इसकी व्यवस्था सुनिश्चित कराएं। मुख्यमंत्री ने सभी कलेक्टरों को निर्देश दिए कि वे मिलावटी वस्तुएं बेचने वालों के विरूद्व सख्त कार्यवाही करें।
कलेक्टर कॉन्फ्रेंस में कानून व्यवस्था की जिलेवार समीक्षा करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि मध्यप्रदेश शांति का टॉपू बना रहें इसके सतत प्रयास होने चाहिए। प्रदेश में अपराधियों, माफियाओं एवं गुंडों के खिलाफ सख्त कार्यवाही होना चाहिए। उन्होंने कहा कि प्रदेश में गुंडो, माफियाओं और अपराधियों को नेस्तनाबूत करें। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश में चिन्हित अपराधों में दोषियों को सजा मिलनी चाहिए इसमें किसी भी प्रकार उदासीनता नही होना चाहिए। उन्होंने निर्देश दिए कि प्रदेश में सक्रिय चिटफंड कम्पनियों एवं एनजीओ की गतिविधियों पर भी निगरानी रखें। मुख्यमंत्री ने निर्देष दिए कि समाज में नशे की प्रवृत्ति को रोकने के लिए नशामुक्ति अभियान भी चलाए। उन्होंने कहा कि महिलाओं विरूद्व अपराध रोके। मुख्यमंत्री ने ऑपरेशन मुस्कान की भी समीक्षा।
कमिश्नर्स एवं कलेक्टर्स कॉन्फ्रेंस में मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने स्वच्छता सर्वेक्षण-2022 की तैयारियों की समीक्षा करते हुए कलेक्टरों को निर्देश दिए कि प्रदेश की सभी सड़के ठीक होना चाहिए, बरसात से पहले सभी सड़कों की मरम्मत हो जाना चाहिए। मुख्यमंत्री ने लोक निर्माण विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिए कि वे सड़कों की मरम्मत एवं रख-रखावं उचित ढंग से करना सुनिश्चित करें। समीक्षा के दौरान मुख्यमंत्री ने निर्देश दिए कि अमरकंटक में सिवरेज का पानी किसी भी स्थिति में नर्मदा के जल में न मिलें इसके पुख्ता इंतजाम होना चाहिए।
कमिश्नर्स, कलेक्टर एवं पुलिस अधीक्षक कि इस वीडियो कॉन्फ्रेंस में झाबुआ एनआईसी मे कलेक्टर श्री सोमेश मिश्रा, पुलिस अधीक्षक श्री आशुतोष गुप्ता, मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत श्री सिद्धार्थ जैन, अपर कलेक्टर श्री जे.एस.बघेल एवं अन्य अधिकारी उपस्थित रहें।

Leave a Reply