मेघनगर मे जयस द्वारा बिरसा मुंडा का शहीद दिवस मनाया

झाबुआ। जयस मेघनगर के द्वारा आज दिनांक 9 जून को स्थान मेघनगर सांई चौराहा इमली मैदान भोला टॉकीज के पीछे महानायक बिरसा मुंडा का शहीद दिवस मनाया गया, जिसमें महामारी कोरोनावायरस के प्रोटोकॉल का पूरी तरह से ध्यान रखा गया और जयस के कार्यकर्ताओं ने बड़ी सावधानी पूर्वक महानायक बिरसा मुंडा के शहीद दिवस को मनाया तथा जयस ब्लॉक अध्यक्ष मेघनगर माधु सिंह डामोर द्वारा भगवान बिरसा मुंडा की जीवन कथा पर प्रकाश डाला गया, उन्होंने बताया की मुंडा एक जनजातीय समूह था जो छोटा नागपुर पठार (झारखण्ड) निवासी था। 1 अक्टूबर 1894 को नौजवान नेता के रूप में सभी मुंडाओं को एकत्र कर इन्होंने अंग्रेजो से लगान (कर) माफी के लिये आन्दोलन किया। 1895 में ब्रिटिश अंग्रेज सरकार द्वारा उन्हें गिरफ़्तार कर लिया गया और हजारीबाग केन्द्रीय कारागार में दो साल के कारावास की सजा दी गयी। लेकिन बिरसा और उसके शिष्यों ने क्षेत्र की अकाल पीड़ित जनता की सहायता करने की ठान रखी थी और जिससे उन्होंने अपने जीवन काल में ही एक महापुरुष का दर्जा पाया। उन्हें उस इलाके के लोग “धरती बाबा” के नाम से पुकारा और पूजा करते थे। और अंत में 9 जून 1900 को लगभग सुबह 8 बजे में अंग्रेजो द्वारा उन्हें जहर देने के कारण उनकी मौत हो गई। इस अवसर पर जयस ब्लॉक अध्यक्ष माधव सिंह डामोर, जिला मीडिया प्रभारी दीप सिंह वसुनिया, क्षेत्र अध्यक्ष पप्पू मुनिया, अरविंद मुनिया, प्रमोद डामोर,अपसिंह डामोर, राकेश मुनिया, सुनील मुनिया, सजेली क्षेत्र अध्यक्ष राजेश डामोर, रंभापुर क्षेत्र राकेश मुनिया, अध्यक्ष दिलीप भूरिया, मंगल सिंह भूरिया, देदला क्षेत्र अध्यक्ष ओम प्रकाश मेडा, विजश अड़, टीकमगढ़ गणावा, रमसू डांगी एवं ग्रामीण जयस कार्यकर्ता उपस्थित रहे।

Leave a Reply