बस कन्डेक्टर के साथ हुई लूट की वारदात का झाबुआ पुलिस ने किया कुछ ही घंटो में खुलासा

झाबुआ l प्राप्त जानकारी के अनुसार 12 अक्टूबर 2021 को डावर बस क्रंमाक GJ-01 DV- 0888 रात 09:00 बजे भोपाल से अलीराजपुर के लिये सवारी भरकर निकली थी, जिसमें फरियादी प्रकाश डावर कन्डक्टर था।

सुबह करीब 05:15 बजे ढेकल घाट से कुछ लड़के जिन्होने बस को हाथ दिया तो सवारी समझकर उन लड़को को बस में बैठा लिया, बस जैसे ही झाबुआ-जोबट रोड पर ग्राम बन में बोरी फाटे पर पहॅुची कि, लड़के ड्रायवर को बोले कि गाडी रोक तो ड्रायवर ने बस को रोक दिया और उन्होनें फरियादी के पास रखे डिजल डलवाने के 22,000रू. व एक वीवो कंपनी व एक नोकिया कंपनी का 02 मोबाईल लूट लिया और सभी लड़के उतरकर वहां से भाग गये। जिस पर थाना रानापुर में अपराध पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया।घटना का खुलासा बस कन्डेक्टर के साथ हुई लूट की वारदात बड़ी सनसनीखेज घटना थी। उक्त लूट के संबंध में पुलिस अधीक्षक झाबुआ श्री आशुतोष गुप्ता द्वारा थाना प्रभारी रानापुर को विभिन्न टीमों का गठन कर घटना का जल्द से जल्द खुलासा करने के निर्देश दिये गये। इस हेतु थाना प्रभारी रानापुर द्वारा मुखबीरों को लगाया गया। पुलिस को शक हुआ कि लूट-पाट की वारदात सिर्फ बस कन्डेक्टर के साथ हुई, बस में अन्य भी यात्री थे। यह वारदात बड़ी लूट की घटना हो सकती थी परन्तु एक ही के साथ लूट की घटना हुई तो इसका कोई अन्य कारण भी जरूर होगा, जिसके बारे में फरियादी से पुछताछ की गई तो उसके द्वारा बताया गया कि एक दिन पहले ही उसका भोपाल में एक मोहब्बत मेडा नाम के व्यक्ति के साथ विवाद हुआ था। इस हेतु पुलिस टीम द्वारा भोपाल में भी मुखबीरों को सक्रिय किया गया। मुखबीर द्वारा जानकारी मिली कि मोहब्बत मेडा उदयगढ़ जोबट क्षेत्र का रहने वाला है। इस पर पुलिस की शक की सूई मोहब्बत मेडा के संदिग्ध दोस्तो पर घुम गई। पुलिस को जानकारी प्राप्त हुई कि मोहब्बत मेडा के बहुत ही करीबी दोस्त जो अपनी दोस्ती के लिये किसी भी हद तक जा सकते है जो की बड़ी उती जिला अलीराजपुर के रहने वाले है। इनमें से मोहब्बत मेड़ा के करीबी दोस्त राजु को पुलिस गिरफ्त में लिया गया। राजु से सख्ती से पुछताछ करने पर उसके द्वारा बताया गया कि कन्डक्टर प्रकाश का मोहब्बत मेड़ा के साथ झगड़ा हुआ था। इस बात को लेकर मोहब्बत ने राजू को बोला की प्रकाश को सबक सिखाना है जिससे वह मुझसे कभी नहीं उलझे। उसके बाद राजु ने अपने अन्य साथियों के साथ मिलकर प्रकाश को लूटने की योजना बनाई व ढेकल घाट से अपने साथियों के साथ बस में बैठ गया और बन में बोरी फाटे पर बस को रोककर प्रकाश के साथ लूट की वारदात को अंजाम दिया। ढेकल घाट से आरोपी सुनिल पिता अमरसिंह, हरीप पिता अमरसिंह, राजु पिता मानसिंह, रणजीत पिता दिलीप, अर्जुन पिता हरिया, विरम पिता पांगला बस में बैठे थे एवं सुनील पिता ध्यानसिंह, सुनील पिता जीरू, सुरेश पिता बायसिंह, अर्पित पिता संजू मोटरसायकल से बस के साथ चल रहे थे ताकि जैसे ही बस में बैठे आरोपी लूट की वारदात को अंजाम दे वेसे ही मोटर सायकल पर बैठाकर फरार हो जाएl आरोपियों से जप्त सामग्री नगदी 16,000 रू., एक हीरो स्प्लेण्डर मोटर सायकल जप्त की गईl
आरोपियों के नाम :-

  1. सुनील पिता अमरसिंह बामनिया निवासी बड़ी उती जिला अलीराजपुर (गिरफ्तार)
  2. हरीप पिता अमरसिंह बामनिया निवासी बड़ी उती जिला अलीराजपुर (गिरफ्तार)
  3. राजु पिता मानसिंह देहडिया निवासी बड़ी उती जिला अलीराजपुर (गिरफ्तार)
  4. सुनील पिता ध्यानसिंह बामनिया निवासी बड़ी उती जिला अलीराजपुर (गिरफ्तार)
  5. रणजीत पिता दिलीप बामनिया निवासी बड़ी उती जिला अलीराजपुर (फरार)
  6. अर्जुन पिता हरिया बामनिया निवासी बड़ी उती जिला अलीराजपुर (फरार)
  7. विरम पिता पांगला देहडिया निवासी छोटी उती जिला अलीराजपुर (फरार)
  8. सुनील पिता जीरू बंडोड़िया निवासी बड़ी उती जिला अलीराजपुर (फरार)
  9. सुरेश पिता बायसिंह बामनिया निवासी बड़ी उती जिला अलीराजपुर (फरार)
  10. अर्पित पिता संजू भील निवासी बड़ी उती जिला अलीराजपुर (फरार)
  11. मोहब्बत मेड़ा निवासी उदयगढ़ जोबट हाल निवास भोपाल (फरार)

सराहनीय कार्य में संपूर्ण घटना का खुलासा करने में थाना प्रभारी रानापुर निरीक्षक टी.एस. डावर, उनि कैलाश सिर्वी, उनि कैशर सिंह पाण्डव, सउनि वीरेन्द्रसिंह, सउनि सुरसिंह, सउनि राजेन्द्र शर्मा, प्रआर. सुनिल, प्रआर. तानसिंह, प्रआर. मनोज, आर. विजय, आर. तरवेज, आर. अशरफ, आर. भूरसिंह एवं आर. 98 मंगलेश, आर. 552 महेश, आर. 573 संदीप, आर. 193 दीपक का सराहनीय योगदान रहा। उक्त टीम को पुलिस अधीक्षक झाबुआ द्वारा पुरस्कृत करने की घोषणा की।

Leave a Reply