प्रदेश के इन जिलों के मुख्य चिकित्साधिकारियों पर लटकी कार्रवाई की तलवार, नोटिस

कमिश्नर ने एनसीडी रोगों की रोकथाम एवं स्क्रीनिंग और स्वास्थ्य परीक्षण कार्य में फिसड्डी मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारियों को फटकार लगाई है।

Chief Medical and Health Officer in rewa

रीवा. कमिश्नर डॉ. अशोक कुमार भार्गव ने स्वास्थ्य विभाग की योजनाओं में लापरवाही पर नकेल कसना शुरू कर दिया है। उन्होंने एनसीडी रोगों की रोकथाम एवं स्क्रीनिंग और स्वास्थ्य परीक्षण कार्य में फिसड्डी मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारियों को फटकार लगाई है। संभागायुक्त ने रीवा, सतना और सीधी के सीएमएचओ की वेतन वृद्धि रोकने के लिए नोटिस जारी कर जवाब मांगा है।

जवाब नहीं मिलने पर एक पक्षीय कार्यवाही 
कश्मिनर रीवा ने रीवा के सीएमएचओ डॉ आरएस पाण्डेय, सतना के मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. अशोक अवधिया एवं सीधी जिले के मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. आरएल वर्मा को सौंपे गए दायित्वों के निर्वहन में लापरवाही एवं उदसीनता बरतने पर असंचयी प्रभाव से आगामी दो-दो वार्षिक वेतन वृद्धि रोकने का नोटिस जारी कर अपना पक्ष प्रस्तुत करने के लिएस 10 दिवस का समय दिया है।

रीवा 33वें और सतना 41वें पायदान पर 
कमिश्नर ने रीवा संभाग के जिलों की प्रदेश स्तरीय जारी एनसीडी रोगों की रोकथाम एवं स्क्रीनिंग और स्वास्थ्य परीक्षण सूची के अनुसार सतना जिले के 49 वें पायदान पर होने तथा उपलब्धि मात्र 5.62 प्रतिशत होने सहित सीधी जिले की स्वास्थ्य परीक्षण सूची अनुसार 46 क्रम में होने तथा उपलब्धि 7.99 प्रतिशत होने तथा रीवा जिले की सूची क्रम में 33वें स्थान पर होने तथा उपलब्धि मात्र 16.61 प्रतिशत होने पर तीनों सीएमएचओ के विरूद्ध अनुशासनात्मक कार्यवाही की जा रही है।

Leave a Reply