ग्रामीण विद्युतीकरण निगम लिमिटेड (आरईसी) ने विद्युत क्षेत्र और नवीकरणीय ऊर्जा परियोजनाओं के वित्तपोषण के लिए केएफडब्ल्यू विकास बैंक के साथ समझौते पर हस्ताक्षर किए

 

ग्रामीण विद्युतीकरण निगम लिमिटेड (आरईसी) ने आर्थिक मामलों के विभाग, वित्त मंत्रालय, भारत सरकार के अनुमोदन के अनुसार भारत-जर्मन द्विपक्षीय भागीदारी के तहत 169.5 मिलियन अमरीकी डॉलर के ओडीए अवधि ऋण का लाभ उठाने के लिए केएफडब्ल्यू विकास बैंक के साथ एक समझौता किया है। ओडीए ऋण की आय का प्रतिस्पर्धी ब्याज दरों पर नवाचारी सौर पीवी प्रौद्योगिकी आधारित विद्युत उत्पादन परियोजनाओं के आंशिक वित्तपोषण के लिए उपयोग किया जाएगा। यह विद्युत क्षेत्र की परियोजनाओं के वित्तपोषण के लिए आरईसी लिमिटेड और केएफडब्ल्यू के बीच हस्ताक्षरित पांचवीं क्रेडिट लाइन और नवीकरणीय ऊर्जा परियोजनाओं के वित्तपोषण के लिए तीसरी क्रेडिट लाइन है।

 

आरईसी बाजार की जरूरतों के साथ तालमेल करने के लिए अपनी नीतियों को लगातार पुनः आकार दे रही है और ऐसे वित्तीय समाधानों और तंत्र को विकसित कर रही हैं जो नवीकरणीय ऊर्जा के क्षेत्र में निजी और सार्वजनिक निवेश दोनों को सुगम बनाने के प्रभावी मापनीय तरीकों का सृजन कर सके। इसके प्रमाण के रूप में आरईसी निगम वित्तपोषित किए जा रहे सभी क्षेत्रों में नवीकरण ऊर्जा क्षेत्र के लिए न्यूनतम ब्याज दरों का प्रस्ताव करता है।

Leave a Reply