कांग्रेस भाजपा की गले की हड्डी बना बंगला बगीचा संघर्ष समिति का आंदोलन !
15 वार्ड सीधे तौर पर हो रहे प्रभावित

नीमच- नीमच जिले में पिछले कई दिनों से एक आंदोलन चर्चा का विषय बना हुआ है इस आंदोलन की गूंज नीमच शहर के गली गली चप्पे-चप्पे से लेकर भोपाल के राजनीतिक गलियारों तक पहुंच चुकी है । बंगला बगीचा संघर्ष समिति के बैनर तले एडवोकेट अमित शर्मा के नेतृत्व में पिछले 1 महीने से बंगला बगीचा संघर्ष समिति लगातार आंदोलन कर रही है । इस आंदोलन में बंगला बगीचा क्षेत्र के रहवासी भी बढ़-चढ़कर हिस्सा ले रहे हैं । आंदोलन के दौरान बंगला बगीचा संघर्ष समिति द्वारा बंगला बगीचा क्षेत्र में सबसे पहले समाधान नहीं तो वोट नहीं के पोस्टर बैनर लगाए गए जिसे नगर पालिका द्वारा आनन-फानन में उतरवाया गया । मुख्य नगर पालिका से लेकर कलेक्टर कार्यालय तक का घेराव बंगला बगीचा संघर्ष समिति के सदस्यों ने पूरी ताकत के साथ किया । इसके चलते 30 जून की डेडलाइन की विज्ञप्ति प्रकाशित करने वाले मुख्य नगरपालिका अधिकारी का स्थानांतरण भी नीमच से हो गया और आंदोलन के चलते मुख्य रूप से सत्ताधारी पार्टी भाजपा में भारी तनाव देखा जा रहा है । ऐसे में अब नगरीय निकाय चुनाव सर पर है और दूसरी ओर बंगला बगीचा संघर्ष समिति का आंदोलन भी लगातार जारी है, बंगला बगीचा संघर्ष समिति के सदस्य घर घर जाकर पार्षद प्रत्याशियों का जबरदस्त विरोध करने की तैयारी कर रहे हैं । इस आंदोलन से दोनों ही प्रमुख पार्टियां परेशान है और उनकी नींद उड़ी हुई है । बंगला बगीचा क्षेत्र से चुनाव लड़ने की तैयारी करने वाले दोनों ही प्रमुख दलों के प्रत्याशियों के चेहरों पर चिंता की लकीरें साफ नजर आ रही है । वहीं कई प्रत्याशी जो निर्दलीय चुनाव लड़ने का मन बना रहे हैं वह बंगला बगीचा सँघर्ष समिति से लगातार संपर्क कर समर्थन मांग रहे हैं । बंगला बगीचा क्षेत्र में आने वाले लगभग 30,000 मतदाता लगभग 15 वार्डों को प्रभावित करते हैं ऐसे में यदि 40 में से 15 वार्डों में मुख्य पार्टियों को मुंह की खानी पड़ती है तो यह उन पार्टियों के भविष्य के लिए भी चिंता का विषय होगा । पूरे बंगला बगीचा क्षेत्र में यह आंदोलन फैल चुका है और बंगला बगीचा वासियों द्वारा आंदोलन के समर्थन में पार्षद प्रत्याशियों का जोरदार विरोध करने का मन बना लिया है । बंगला बगीचा संघर्ष समिति के सदस्य एडवोकेट अमित शर्मा ने बताया कि जल्द ही बंगला बगीचा संघर्ष समिति की बैठक बुलाई जाएगी और उस बैठक में समस्या के जनहित में समाधान के लिए आने वाले चुनाव में क्या रणनीति बनाई जाए और किस प्रकार से झूठे और वादाखिलाफी करने वाले नेताओं को सबक सिखाया जाए यह तय किया जाएगा । उन्होंने कहा कि बंगला बगीचा क्षेत्र की जनता के साथ सत्ताधारी पार्टी के साथ साथ विपक्षी पार्टियों द्वारा भी छल किया गया है ऐसे में नगरीय निकाय चुनाव से अच्छा मौका इन्हें सबक सिखाने का और कोई नहीं हो सकता जल्द ही हम बैठक बुलाकर आगामी रणनीति तय करेंगे और यदि समस्या का समाधान जनहित में जल्द से जल्द नहीं होता है तो आंदोलन को जारी रखेंगे ।

About Surendra singh Yadav

View all posts by Surendra singh Yadav →

Leave a Reply