पुलिस की मिलीभगत से संचालित हो रहा है जेतपुरा के समीप सबसे बडा जुआघर, रोज लगता है 30 से 40 लाख का हार जीत का दांव

— राजस्थान के निम्बाहेडा के नामचीन जुआरी तबरेज और विष्णु का नीमच में ठिकाना, पुलिस को मंथली देने का दावा, नीमच सिटी पुलिस का संरक्षण
— रतलाम, मंदसौर, प्रतापगढ, चित्तोडगढ, निम्बाहेडा, भीलवाडा के जुआरियों का लगता है मेला
नीमच। एक तरफ प्रदेश के मुखिया शिवराजसिंह चौहान जुआरियों और सटोरियो को नेस्तनाबूद करने के लिए दृढ सं​कल्पित है, वहीं दूसरी और नीमच जिले में सटोरियों और जुआरियों की मौज हो रही है। राजस्थान के निम्बाहेडा के जुआरियों ने नीमच के जेतपुरा फंटे के पास एक वेयर हाउस में बीते कुछ माह से ठिकाना बना रखा है और यहां पर घोडीदाना जुआ सरेआम खेला जा रहा है। यहां पर राजस्थान और मध्यप्रदेश के कई ​​जिलों के जुआरी आते है और मेला लगा रहता है। निम्बाहेडा के तबरेज और विष्णु नामक दोनों बडे जुटारियों(जुआ चलाने का ठेका लेने वाले) ने बडे पैमाने पर वेयर हाउस पर जुआघर संचालित कर रहे है। यह क्षेत्र नीमच सिटी थाना क्षेत्र के अंतर्गत आता है, लेकिन पुलिस ने इन्हें छूट दे रखी है। बताया जा रहा है कि दो लाख रूपए की राशि मंथली के रूप में दी जाती है, ताकि पुलिस कोई भी कार्रवाई नहीं करें। हर रोज करीब 30 से 40 लाख रूपए जुआ यहां पर खेला जाता है। बीट प्रभारी से लेकर अन्य अधिकारी सभी सेट है, स्थिति यह है कि रात के समय के अलावा दिन दहाडे घोडीदाना जुआ संचालित हो रहा है। इस जुआघर में करीब 100 से ज्यादा मध्यप्रदेश और राजस्थान के जुआरी प्रतिदिन दांव लगाने के लिए आते है। नीमच के अलावा रतलाम, ​मंदसौर, राजस्थान के प्रतापगढ, चित्तोडगढ, उदयपुर, ​भीलवाडा सहित अन्य जगहों से जुआरी यहां पर खेलने के लिए आते है। एक तरह से राजस्थान के जुआरियों के लिए नीमच सिटी थाना क्षेत्र का यह इलाका सुरक्षित स्थान बन चुका है। बडे अधिकारियों को गुमराह कर बडे स्तर पर जुआघर संचालित करने के इस खेल में नीमच सिटी थाने में पदस्थ एक ​चर्चित पुलिसकर्मी का अहम योगदान मिल रहा है। अब देखना यह है कि आखिर कब तक मंथली सिस्टम के खेल में यह जुआघर चलता है।

पहले मध्यप्रदेश की बार्डर पर संचालित होता था जुआघर, पुलिस ने बंद कराया—
सूत्र बताते है कि संयम नगर निंबाहेड़ा निवासी तबरेज खान पिता जलील खान विगत कुछ माह से नीमच में जुआघर संचालित कर रहा है। इससे पहले वह एमपी बार्डर से सटे हुए निम्बाहेडा थाना क्षेत्र के बांगरेडा में घोडीदाना जुआघर संचालित हो रहा था। चित्तोडगढ पुलिस अधीक्षक ने स्पेशल टीम गठित कर मौके से 22 लोगों को गिरफ्तार किया था, जिसमें मंदसौर, नीमच सहित राजस्थान के कई इलाकें के जुआरी शामिल थे, मौके से करीब 16 लाख रूपए भी जब्त किए थे। कार्रवाई के बाद वहां पर घोडीदाना बंद हो गया। इसके बाद नीमच जिले को सुरक्षित चुना।

नीमच के लालू ग्वाला की भूमिका महत्वपूर्ण— निम्बाहेडा के तबरेज खान को ऐसे व्यक्ति की तलाश थी, जो जुआघर के लिए सुरक्षित जगह तलाशें और पुलिस से भी सेटिंग करवा दें। नीमच के लालू ग्वाला ने इस कार्य का बखूबी अंजाम दिया। इसके बदले लालू ग्वाला को हर माह मौटी रकम तबरेज खान देता है। पुलिस व अन्य लोगों को मैनेज करने का काम लागू ग्वाला अब तक करता आया है।

About Surendra singh Yadav

View all posts by Surendra singh Yadav →

Leave a Reply