बुलडोजर का डर,जाली दस्तावेज की खुली पोल, मंदसौर मेंं एक और कुख्यात तस्कर का मकान जमींदोज

मंदसौर। मंदसौर पुलिस प्रशासन द्वारा मादक माफियाओं पर लगातार शिकंजा कसा जा रहा है। सोमवार को सीतामउ थाना क्षेत्र के ग्राम लदूना में कुख्यात तस्कर जावा उर्फ जियाउद्दीन के लदूना में स्थित अवैध मकान को ध्वस्त किया गया। खास बात यह है कि कुख्यात तस्कर जावा और उसके भाईयों ने बुलडोजर की कार्रवाई से बचने के लिए मकान के फर्जी दस्तावेज भी तैयार किए और प्रशासन को लगातार गुमराह किया जा रहा था, लेकिन एसडीएम संदीप शिवा के सामने उनकी कलाकारी एक भी नहीं चली और प्रशासन ने कुख्यात तस्कर का मकान जमींदोज कर दिया। फर्जी दस्तावेज बनाने के मामले में प्रशासन द्वारा कुख्यात तस्कर और उसके भाईयों पर भादसं की धारा 420 के तहत प्रकरण दर्ज किया जाकर जेल भेजा जाएगा।

एमपी—राजस्थान में कुख्यात तस्कर जावा का तगडा नेटवर्क, हमेशा प्यादे ही पकडाते थे और पर्दे के पीछे जावा रहता था— बीते कई सालों से जावा का नाम तस्करी की दुनिया में तेजी से उभरकर सामने आया है। जावा मंदसौर जिले से लेकर राजस्थान के प्रतापगढ जिले तक सक्रिय है और गैंग संचालित करता है, हमेशा उसके गुर्गे या प्यादे ही पकड में आए है, पर्दे की पीछे जावा तस्करी की गतिविधियां संचालित करता आया है। अगर कहीं पर उसका नाम भी आता है तो लेनदेन कर खुद का नाम निकलवा लेता है और प्यादों का नाम डाल दिया जाता है, ​लेकिन 29 सितंबर 2022 को पिपलियामंडी में पकडाई 500 ग्राम अफीम, 100 ग्राम ब्राउन शुगर,100 ग्राम डायजापाम के मामले में कुख्यात तस्कर नहीं बच पाया। मौके से राहुल पिता बाबूलाल नाई निवासी लदूना, तोसिफ पिता जाकिर निवासी लदूना और सलाम पिता मलिक निवासी लदूना को पकडा था। इन्होंने बताया कि ये मादक पदार्थ जावा से लेकर आए थे। तभी से जावा फरार है, ऐसी स्थिति में उसके मकान पर बुलडोजर चलाकर उस पर शिकंजा कसने के प्रयास प्रशासन ने किए है, जिसकी प्रशंसा हो रही है।

About Surendra singh Yadav

View all posts by Surendra singh Yadav →

Leave a Reply