लोकल, वोकल और ग्लोबल का प्रयास
हस्तशिल्प मृगनयनी 2021 का शुभारंभ

नीमच । मध्यप्रदेश हस्तशिल्प एवं हथकरघा विकास निगम लिमिटेड भोपाल बेहतरीन शिल्पियों के उत्पाद को जहां बिक्री के लिए एक मंच प्रदान करता है वही जरूरतमंद लोगों या कला के पारखियों तक हाथ से बने उत्पादों को पहुंचा कर लोकल से वोकल और ग्लोबल बनाने का अनूठा प्रयास कर रहा है। नीमच के जानकार और अनुभवी लोगों को इनका लाभ उठाना चाहिए यह बात विधायक दिलीप सिंह परिहार ने सीएसवी अग्रोहा भवन में संत रविदास मध्यप्रदेश हस्तशिल्प एवं विकास निगम द्वारा आयोजित 13 दिवसीय हस्तशिल्प मेला मृगनयनी 2021 के शुभारंभ अवसर पर बोल रहे थे। इस मौके पर जिला पंचायत सीईओ श्री सांगवान भी उपस्थित थे। श्री परिहार ने कहा कि यह नीमच का सौभाग्य है कि देश के प्रधानमंत्री और प्रदेश के मुख्यमंत्री सदैव हाथ से निर्मित वस्तुओं को बनाने के लिए प्रेरित कर रहे हैं तो नीमच के कलापारखी तथा इन उत्पादों को खरीद कर रोजगार का अवसर देने के साथ ही उच्च गुणवत्ता की सामग्री को बढ़ावा भी दे रहे हैं। उन्होंने कहा कि नीमच के लोगों की पसंद करते के कारण प्रदेश भर के शिल्पकार नीमच पहुंच कर उन्हें सामग्री उपलब्ध करा रहे हैं। श्री सांगवान ने कहा कि सीएसवी अग्रोहा भवन में शिल्पी एक छत के नीचे एकत्र हुए हैं। हर शिल्पी अपने कला में पारंगत हैं। कई शिल्पियीं को सर्वश्रेष्ठ कला के कारण पुरस्कार मिल चुका है। ऐसे में नीमच वासियों के लिए एक अच्छा अवसर है कि सीएसपी अग्रोहा भवन में इन कलाकारों और कला को प्रोत्साहन दें। मेला संयोजक श्री दिलीप सोनी ने कहा कि नीमच के लोगों का सदैव हस्तशिल्प कला के प्रति रुझान रहा है। यही कारण है कि पिछले 10-12 वर्षों से नीमच में संत रविदास हस्तशिल्प एवं हथकरघा विकास निगम लिमिटिड भोपाल सदैव नए-नए शिल्प के साथ नीमच में इस प्रकार के आयोजन करता रहा है। इस बार भी यह आयोजन 1 फरवरी से 13 फरवरी तक सीएसवी अग्रवाल भवन में सुबह 11:00 बजे से रात 10:00 बजे तक आमजन के लिए खुला है। जिसमे लेदर के जूते और चप्पल, टाटा एक्सपोर्ट लेदर के बैग, बेल्ट, पर्स, दूधी की लकड़ी के खिलौने, इंदौर के डेकोरेटिव आइटम, कोलकाता का जूट वर्क, सहारनपुर का शीशम फर्नीचर, खुर्जा के गमले एवं चीनी मिट्टी के सजावटी सामान, यूपी के टॉप्स, कान के झुमके, भोपाल का नवाबी बैग वर्क, चंदेरी की साड़ियां और सूट नीमच की बीड़ ज्वेलरी, जयपुर के सलवार सूट, खादी के बेड पिलो कवर, भोपाल का चिकन वर्क, लखनऊ का बुटीक वर्क, हैदराबाद के मोतियों के हार, मृगनयनी की साड़ियां, सूट और ड्रेस मटेरियल, ग्वालियर की गरबा तथा जोड़ वाली बेडशीट, कोलकाता का काथा वर्क, रायपुर का ऑर्गेनिक कॉटन वर्क, बनारस की साड़ियां सहित अन्य कई आइटम हस्तशिल्प मेले में उपलब्ध है।

Leave a Reply