आवासीय भूमि पर व्यवसायिक निर्माण कर लगा रहे सरकार को चुना क्या अवैध निर्माणों में नगरपालिका की है मौखिक स्वीकृति—

निम्बाहेडा इन दिनों शहर के कई स्थानों पर बिना किसी जायज स्वीकृति के आवासीय भूमि पर धड़ल्ले से व्यावसायिक निर्माण चल रहा है लेकिन नगरपालिका प्रशासन कुंभकर्णी नींद में सोया हुआ है या फिर जानबूझकर आंखे मूंदने का नाटक चल रहा है गौरतलब है कि छोटीसादड़ी रोड पर कई स्थानों पर आवासीय भूमि पर खुलेआम व्यवसायिक निर्माण हो रहे हैं। ऐसे ही निर्माण शहर के कई अंदरुनी इलाको में भी चल रहे इन अवैध व्यवसायिक निर्माण को लेकर कई बार नगरपालिका प्रशासन और राजस्व विभाग को शिकायत भी की गई लेकिन कोई प्रभावी कार्रवाई नहीं हुई। बिना भू-रूपांतरण के निर्माण से पालिका ओर सरकार को लाखों रूपए राजस्व का चुना तो लग ही रहा है लेकिन इससे भूमाफियाओं के हौंसले भी फिर बुलन्द होने लगे है चौंकाने वाली बात यह है कि निर्माण शाखा का पूरा का पूरा विभाग होने के बावजूद शहर में इस तरह के अवैध निर्माण किस कि शह पर किए जा रहे हैं की उन्हें पालिका प्रशासन की अनुमति के ज़रूरत महसूस नही हो रही है ओर पालिका के साथ ही स्थानीय प्रशासन क्यो मौन है ?
क्या भूमाफियाओं के राजनीतिक रसूखात के चलते पालिका प्रशासन व राजस्व विभाग के अधिकारी निर्माण बंद नहीं करवा पा रहे हैं तमाम हालातों को देखते हुए लगता है कि अवैध निर्माण कर्ताओं और पालिका प्रशासन के बीच कोई विशेष “मोखिक” सहमति जरुर हुई है ओर ये भी की शहर में अवैध निर्माण को लेकर पालिका स्थानीय प्रशासन ओर राज्य सरकार के नियम कानून का कोई मूल्य नही रहा यानी पालिका में सब कुछ खुला खेल फर्रुखाबादी चल रहा है।

Leave a Reply