आखिर कब जागेगा प्रशासन चीचली नगर परिषद के सी एम के होते जा रहे हैं हौसले बुलंद


अंधेरगिरी!! लूटपाट!! भ्रष्टाचार!!
सीएमओ की भ्रष्ट मेहरबानी की जय हो!!!


मूलचंद मेंधोनिया (सहसंपादक – कबीर मिशन समाचार भोपाल)
चीचली (जिला नरसिंहपुर) आज चीचली नगर परिषद में यह कहावत सटीक चरितार्थ हो रही है “” अंधेरनगरी चौपट राजा ” यह के मूल निवासी और चार पीढ़ियों से कच्चे मिट्टी के घरों में तीन – चार तक परिवार मुश्किल से गुजारा कर रहे है। जो परिषद में प्रधानमंत्री आवास योजना प्रारंभ से लेकर सैकड़ों बार आवेदन करने, आईडी लेने के चक्कर काटते रहे। लेकिन यहां के अधिकारियों ने कमाल कर दिया। आवास हीनों गरीबों को पीएम आवास न देकर अभी कुछ दिनों से आकर बसने वाले धन्नासेठों, अमीर और शासकीय सेवा में कार्यरत परिवार को प्रधानमंत्री आवास योजना की राशि जारी की है। चीचली में परिषद में इंजीनियर के पद पर कार्यरत विनय कटारे, पिता शिक्षक की बहू श्रीमती संगीत कटारे को चीचली नगर परिषद के द्रारा पात्र मान कर प्रधानमंत्री आवास का तोहफा दिया है। जिनकी सरकार प्रधानमंत्री आवास स्वीकृति में अधिकारियों और कर्मचारियों ने पात्रता में मोका मुआयना में पर देखा वह इस प्रकार हैं – 8 लग्जरी फोर गाड़ी, 3 कृषि टेक्टर /टाली, कृषि जमीन और अलीशान बंगला को पात्र मानकर पीएम आवास प्रदान किया गया है।
यह हाल नगर परिषद चीचली में पदस्थ राजेन्द्र सोनी इंजीनियर विनय कटारे चिन्टू खरे के साथ साथ सभी कर्मचारियों द्रारा माल कमाई करने में सरकारी रुपये गरीबों को न दे कर हाथ साफ कर रहे है। चीचली के इस योजना में करोड़ों रुपये का मनचाहा घपला कर भ्रष्टाचार और पक्षपात किया जा रहा है।
यहां के जन्म के रहवासी मूलचंद अहिरवार और रेवती रमन अहिरवार है। जिनके दादा वीर मनीराम जी अहिरवार थे। जिन्होंने देश की आजादी में चीचली में अंग्रेजी सेना से लडते हुए अपनी जान देश के खातिर कुर्बानी दी। तथा दादा के दूसरे भाई देश की सेना में जाकर वही पर शहीद हुए थे। ये परिवार चीचली गौड़वाना राजा श्री शंकर प्रतापसिंह सिंह जी के परिवार के राजदरबार सेवक थे। इतने बरसों के आवेदकों को अनेक बार आवेदन पत्र देने के पश्चात आज दिनांक तक जातिगत आधार पर, देृषभावना से स्थानीय कर्मचारियों में चिन्टू खरे और चीचली के ही अवैध रूप से भर्ती किये गये। कर्मचारियों की कानाफूसी के अंधेरगिरी करते हुए। आवेदक मूलचंद अहिरवार और रेवती रमन अहिरवार को प्रधानमंत्री आवास योजना के लाभ से वंचित किया जा रहा है। ये परिवार नगर परिषद चीचली को नियमित मकान टैक्स, पानी टैक्स और बिजली बिल भी अदा करते चले आ रहे हैं। लेकिन वाह! चीचली परिषद तेरी अंधेरनगरी चौपट नगरी करने का काम कर रहे है। अब तो परिषद सीएमओ ऐसे अमानवीय क्रत्य पर उतारुं हो गये की यदि योजना की जानकारी एवं गरीबों को लाभ क्यों नहीं दे रहे है। अनुसूचित जाति परिवारों को प्रधानमंत्री आवास योजना के लाभ से वंचित क्यों किया जा रहा है। उक्ताशय की नगर के सम्मानित लोगों के साथ नगर के बबलू सिंघानिया कुछ दिनों परिषद में गये तो उनके विरुद्ध झूठी और मनगढ़ंत शिकायत जिला कलेक्टर नरसिंहपुर को की गई है। जिससे साफ मालूम हो रहा है कि परिषद कार्यालय जाने वाले पर न जाने और कैसी झूठी शिकायत कर सकते हैं।
उक्त गंभीर विषय की शिकायत लगातार हो रही है। नगर के अनेक लोग परिषद से नाराज है। तथा भयभीत है कि ये वास्तव में किसी भी की शिकायत कर परेशान कर सकते है। नगर के निवास मूलचंद अहिरवार जो की अनुसूचित जाति के प्रसिद्ध साहित्यकार, समाजसेवी एवं पत्रकार हैं। तथा अनेकों सामाजिक संगठनों में जनसेवा कर रहे है। अभी कोरोना महामारी के समय अपनी पत्रकारिता के माध्यम से सम्पूर्ण लोगों को जागरूक कर रहे है। इन्हें तो चीचली नगर परिषद के द्रारा पहली प्राथमिकता देते हुए प्रधानमंत्री आवास स्वीकृति देना थी। इनका भाई शिक्षित बेरोजगार विकलांग हैं उसे योजना में घर देकर नगर परिषद के द्रारा किसी भी पद पर नियुक्त होने चाहिए था। लेकिन नगर परिषद जो मनमानी वो इसलिए की इनके रिकार्ड की जांच हो नहीं रही प्रशासन ठोस कार्यवाही कर नहीं रहा है। जिससे परिषद के हौसले बुलंद है। लेकिन पाप का घडा शीघ्र फोटेगा, गरीब अनुसूचित जाति, आवासहीन और दो जून की रोटी कमाई करने वीर शहीद मनीराम जी अहिरवार के परिवार को सताया जा रहा है। परिणाम कानून नहीं देगा तो ऊपर वाला मालिक नहीं छोड़ेगा।

Leave a Reply