संविधान निर्माता डाँ. अम्बेडकर जी का अपमान करने वाले पर : कार्यवाही क्यों नहीं हो रही है मनासा पुलिस प्रशासन मौन


नीमच जिले के मनासा:—– भारतीय संविधान के निर्माता, महामानव भारत रत्न बाबासाहेब डॉक्टर अंबेडकर हमारे देश की सबसे बड़ी शान है। जिनके लिए देश ही नहीं पूरी दुनिया के लोग श्रद्धा पूर्वक सम्मान करते हैं। क्योंकि बाबासाहेब से ज्यादा उन दिनों कोई भी नहीं था। जिन्होंने देश, विदेशों में अनेकों बिषय और भाषाओं का अध्ययन कर देश का सर्वोच्च सम्मान बढ़ाया है। उनका जन्म दिन 14 अप्रैल को मनाया जाता है। जिसे पूरा देश में महापर्व के रूप में बर्षों से मना कर प्रेम, समता, बन्धुत्व के लिए एक दूसरे को शुभकामनायें दी जाती है।
14 अप्रैल 2021 को अभी जयन्ती जब देश मना रहा था। तब जिला नीमच के जीरन का निवासी गोपाल पेन्टर जो कि जात पात के आधार पर सोशल मीडिया के माध्यम से डां. अम्बेडकर के बिषय में अपमान और अभद्र भाषा में मैजेज कर रहा था। जो कि अपमान जनक है। गोपाल पेन्टर ने सोशल मीडिया के अलावा नीच दिखाने की मंशा से श्री सुरेन्द्र सिंह यादव को भी दिनांक 14 /04/2021 को मैजेज किया कि “भिखारियों की जयंती पर खैरातियों को हार्दिक शुभकामनायें।” ये संदेश बाबासाहेब आंबेडकर के अपमानित करना उदघाटित करता है। तथा देश के करोड़ों लोगों की भावनाओं को ठेस के अतिरिक्त देश का अपमान करना कानूनी अपराध की श्रेणी में है। गोपाल पेन्टर ने उक्त मैजेज के साथ ही एक स्टीकर के द्रारा अनुसूचित जाति के खिलाफ टिप्पणी की जिसमें लिखा है “एस सी एस टी एक्ट मुर्दाबाद” ये उसनें अनुसूचित जाति के बारे में गलत टिप्पणी और नारे लिखे हैं। उपरोक्त सम्बन्ध की शिकायत थाना मनासा जिला नीमच में दिनांक 17/04/2021को शिकायत की गई थी। वहां से कार्यवाही नहीं होने पर शिकायतकर्ता ने जिला पुलिस अधीक्षक महोदय जिला नीमच म. प्र. को दिनांक 23 /04/2021 को पुलिस अधीक्षक से अबिलंब दण्डात्मक गोपाल पेन्टर के विरुद्ध करने हेतु आवेदन पत्र दिया गया है। आशा है कि आवेदन पत्र पर संज्ञान लेते हुए ऐसे देश का महौल बिगाड़ने और जातिवाद का बढावा देने और अनुसूचित जाति वर्ग का अपमानित करने वाले पर अंकुश लगेगा। प्राप्त जानकारी के अनुसार उक्त व्यक्ति भाजपा के नीमच जिले के अच्छे पद पर नियुक्त है जब इस प्रकार के लोग भी इस तरह की सोच रखने लगे तो क्या होगा सोच सकते हैं आवेदक का कहना है कि अगर जल्द मुझे न्याय नहीं मिला तो आवेदक एसपी कार्यालय नीमच के बाहर मौन धारण कर जब तक बैठा रहेगा जब तक गलत पोस्ट करने वाले के विरुद्ध सख्त कार्यवाही नहीं हो जाती बस आवेदक लोग डाउन खुलने का इंतजार कर रहा है देखना है कि पुलिस प्रशासन इसके विरोध क्या कार्यवाही करता है

Leave a Reply