धर्म और आस्था के प्रतीक बद्रीविशाल भगवान के मंदिर की संपत्तियों के खरीद फिरोख्त पर रोक को लेकर बड़ी संख्या में नगरवासियो ने एसडीम को सौंपा ज्ञापन

मनासा। मंदिरों की नगरी मनासा शहर में लंबे समय से मंदिरों की जमीनों पर भुमाफियों द्वारा जबरन कब्जा करने एवं उनकी खरीद फिरोख्त करने के मामले सामने आ रहे हैं। मंदिरों की जमीनों को लेकर समय समय पर समाज सेवीयों द्वारा आवाज उठाकर शासन प्रशासन को अवगत करवाया गया हैं। वही फिलहाल मनासा शहर में नगर नायक बद्रीविशाल मंदिर के नाम पर दर्ज भूमियों को भूमाफियाओं द्वारा बेचने का मामला सामने आया है। मंदिर की जमीनों पर भूमाफियों द्वारा कब्जा नहीं हो शहर की जनता ने एसडीएम के नाम तहसीलदार वर्मा को ज्ञापन सोप मंदिर के नाम पर दर्ज समस्त भूमियों की जांच कर उनके नामांतर, रजिस्ट्रीयो एवं क्रय विक्रय पर रोक लगाने की मांग की। नगरवासियों ने शहर के बद्रीविशाल मंदिर से पैदल मार्च निकालते हुए चोपडगट्टा, सदर बाजार, विजय स्तंभ, बस स्टेण्ड, करगिल चोराहा होते हुए एसडीएम कार्यालय पहुचे। जहा पर एसडीएम के नाम तहसीलदार एमएल वर्मा को ज्ञापन सोपा। ज्ञापन में बताया गया कि नगर नायक बद्रीविशाल मंदिर की पौथी वाचन हेतु दी गई मौजा मनासा, सारसी एवं ग्राम रातीतलाई स्थित कृषि भूमियों के संरक्षण तथा पूर्वोक्त स्थिति में कायम किया जाए। साथ हि राजस्व उपखण्ड मनासा के द्वारा प्रकरण क्रमांक 2630/ प्रवाचक/ 2021 में पारित आदेश दिनांक 8 जुलाई 2021 को लेकर नगर में जनचर्चा जोरों पर है कि कुछ कतिपय भूमाफिया द्वारा पारित आदेश के उपरांत बद्रीनारायण मंदिर के पौथी वाचन के निमित्त सुपुर्द मौजा मनासा, सारसी एवं रातीतलाई स्थित भूमियों का अवैध अंतरण कर सम्पत्ति की हेराफेरा कर खरीद फिरोख्त करने का प्रयास किया जा रहा हैं। कुछ व्यक्ति अपना हित साधने, नगर में भ्रामक स्थिति एवं नगर के शांति प्रिय वातावरण को खराब करने एवं अनेक प्रकार की गतिविधियों के माध्यम से उक्त पौथी वाचन हेतु संरक्षित सम्पत्तियों पर अवैध आधिपत्य कर अवैध निर्माण करने का प्रयास किया जा रहा हैं। नगरवासियों ने ज्ञापन के माध्यम इस मामले में तुरंत संज्ञान लेते हुए अवैध रूप से मंदिर की भूमि पर 1896-87 की पूर्वोक्त स्थिति बनाए एवं भूमियों का संरक्षण किया जाए। साथ हि नगर की फिजा में जहर घोलने वाले व्यक्तियों के खिलाफ कार्रवाई की जाए।

इनका कहना :-

मामले में मेरे द्वारा पटवारी एवं आरआई के साथ अन्य सदस्यों की टीम गठीत कर दी गई। दस्तावेजों का भोतिक सत्यापन कर रिपोर्ट मंगवाई गई। रिपोर्ट आते ही कार्रवाई की जाएगी।

एम एल वर्मा-तहसीलदार

Leave a Reply