मनासा तहसील के खाद्य अधिकारी विनोद नागोरी की उड़ी नींद शनिवार को आनन-फानन में की कार्यवाही बहुत सी दुकानों से पकड़ा चावल गेहूं

मनासा:—–मनासा सहित पूरे तहसील क्षेत्र में गरीबो को वितरण होने वाले सरकारी गेंहू व चावल, जो प्रधानमंत्री द्वारा वितरण होने वाला निः शुल्क गेंहू चावल वितरण सम्बंधित अनेक शिकायते लगातार मिलरहि है जिसमे कई राशन की दुकानो पर समान नही वितरण करने की जानकारी भी क्षेत्र से जिम्मेदारो तक शिकायत के रूप मे आमजनता द्वारा पहुचाई जा रही है।
अब यह गरीबो को मिलने वाला राशन कहा पहुच रहा है इसको लेकर शनिवार को तहसील मनासा के खाद्य अधिकारी विनोद नागोरी को प्राप्त हुई जिस पर वह मनासा तहसील के गांव चचोर मे पहुचे ओर पीडीएस का चांवल गायत्री ऑटो पार्ट्स व किराना दुकान पर बिक रहा तो उन्होंने कार्यवाही की साथ ही इसी तरह रामपुरा से भी घरेलू गेस सिलेंडर का व्यवसायिक उपयोग करते हुए 5 गेस स्लेंडर जप्त किये । इस कार्यवाही से राशन के खेल को अंजाम देने वालो पर इसका कितना असर होता है यह तो आने वाले दिनो मे देखा जायेगा
साथ ही जिम्मेदार भी गरीब के हक के लिये कितनी जिम्मेदारी रखते है यह भी देखना दिलचस्प होगा।
वैसे यू देखा जाये तो राशन के गेंहू चावल का खेल कोई नया नही है लंबे समय से लगातार जारी है और जिम्मेदार अधिकारियो ने आजतक अपने सिस्टम का काम सिस्टम से ही निपटने का खेल किया है जिसकी जानकारी आमजन द्वारा सार्वजनिक रूप से कई बार कही जाती रही है।
जुलाई माह में 1 से 15 जुलाई तक मुख्यमंत्री द्वारा दिया जाने वाला राशन दुकानों से वितरित हुआ जो सशुल्क था उसके बाद दिनांक 16 से 31 तक प्रधानमंत्री वाला राशन फ्री में मिलने का कार्य शुरू हुआ जो तहसील क्षेत्र की कुछ दुकानो पर तो वितरण हुआ ओर कुछ पर 50 फीसदी तक ही हो पाया ओर कुछ पर तो बाटना शुरू भी नही हुआ जिसको लेकर ग्रामीणो ने प्रशासन के जिम्मेदारो तक फोन के माध्यम से अपनी शिकायत भी पहुचाई है
मुख्यमंत्री व प्रधानमंत्री दोनो का मिलाकर एक गरीब व्यक्ति को 10 किलो राशन देना है।
इस संबंध मे जब खादयअधिकारी विनोद नागोरी से बात की तो उन्होनेने बताया कि प्रधानमंत्री वाला निःशुल्क गेहूं जो 15 जुलाई से शुरू हुआ है वह 15 अगस्त तक वितरण होगा क्योकि इस बार ट्रांसपोर्टेशन के कारण दुकानो पर सामग्री पहुचने मे देरी हुई है व।वही जहा वितरण नही होने की शिकायत मिलेगी उसपर कार्यवाही की जावेगी गरीब को उसके हिस्से का पूरा राशन मिले व बाजारों में नही बिके साथ ही घरेलू गैस का दुरुपयोग ना हो इसको लेकर लगातार मॉनिटरिंग कर दोषी पाये जाने वालो पर कार्यवाही की जावेगी ।

Leave a Reply