नीमच पुलिस की बड़ी कार्यवाही चड़ौली से 200 लीटर कच्ची शराब जप्तइस गांव को माना जाता है शराब माफियाओं का बड़ा गढ़

नीमच:—-मंदसौर जिले में जहरीली शराब पीने से 10 लोगों की मौत हो चुकी है यह मामला प्रदेश में सुर्खियों में है गांवों में यूरिया व स्प्रिट से तैयार अवैध शराब कुछ दिनों में जहरीली हो जाती है नीमच सिटी पुलिस ने शराब माफिया के गढ़ बांछड़ा बाहुल्य गांव चड़ौली मैं रवीश जी टीम को जंगल में प्लास्टिक की केन व ड्रम मैं भरकर रखा 2000 लीटर लहान व 200 लीटर अवैध शराब जप्त करने में सफलता मिली अवैध शराब माफिया पर शिकंजा कसने के लिए एस पी सूरज कुमार वर्मा के निर्देश में जिले में पुलिस ने अभियान शुरू किया है नीमच सिटी टीआई करणी सिंह शक्तावत ने बताया कि चड़ौली गांव अवैध कच्ची शराब बनाने वाले सक्रिय थे सूचना मिलने पर एस आई असलम पठान के नेतृत्व में टीम गठित कर दबिश देने पहुंची गांव में सरकारी स्कूल की दीवार के पास ही अवैध शराब माफियाओं ने भर्तियां लगा रखी थी इन्हें टीम ने नष्ट करवाया मामले में अज्ञात लोगों के खिलाफ आबकारी एक्ट में प्रकरण दर्जी कर जांच शुरू की
जिले के 36 गांव जहां बनती है कच्ची शराब
जिले की नीमच मनासा वे जावद तहसील में करीब 36 गांव ऐसे हैं जहां अवैध शराब माफिया द्वारा यूरिया वह स्प्रिट से कच्ची शराब तैयार की जाती है मनासा पुलिस ने पिछले दिनों 2 गांवों में दबिश दी थी बड़ी मात्रा में लहान मिला जिसे मौके पर नष्ट करवाया अब नीमच सिटी पुलिस द्वारा कार्यवाही शुरू की है पिछले वर्ष मुरैना उज्जैन की घटना के बाद भी पुलिस इस तरह की कार्यवाही शुरू की थी लेकिन शराब तैयार करके बेचने वाले मुख्य अवैध शराब माफिया तक पुलिस नहीं पहुंची थी सिर्फ शराब बनाने के बर्तन व उपकरण ही जप्त कर के लौट आई थी जावद क्षेत्र के कई गांव ऐसे हैं जहां पुलिस ने अब तक कोई कार्यवाही नहीं की है रामपुरा कुकड़ेश्वर थाना क्षेत्र के गांव भी पुलिस की दबिश से बहुत दूर है यह दोनों थाने भी नहीं दे रहे हैं अवैध शराब बनाने वालों की तरफ

Leave a Reply