अवैध शराब की बिक्री पर प्रतिबंध एवं नशामुक्ति जनजागरूकता के लिए राजस्‍थान व समीपवर्ती जिले के गावों में चैकिंग, शिविर तथा जागरूकता अभियान जारी

नीमच | विगत दिनों जिला मंदसौर व म.प्र के अन्य जिलों में जहरीली शराब से संबधित घटनाएं घटित हुई है। जिला नीमच की सीमा तीन ओर से राजस्थान राज्य, चित्तौडगढ(राजस्थान)310 कि.मी.प्रतापगढ राजस्थान 64 कि.मी.भीलवाडा राजस्थान 14 कि.मी एवं मंदसौर म.प्र. 125 कि.मी.लगी हुई है जिसमें जिला नीमच के थाना जावद रतनगढ सिंगोली, बघाना, जीरन व मनासा से राजस्थान राज्य की सीमा तथा मनासा, जीरन, नीमचसिटी व रामपुरा से मंदसौर जिले की सीमा लगी हुई है।
कलेक्‍टर श्री मयंक अग्रवाल एवं पुलिस अधीक्षक श्री सूरज कुमार वर्मा, के मार्गदर्शन में जिला नीमच की सीमा से राजस्थान राज्य एंव समीपवर्ती जिला मंदसौर से लगे हुए गायों में थाना प्रभारी, चौकी प्रभारी एवं राजपत्रित अधिकारियों द्वारा भम्रण कार्यक्रम आयोजित किये जा रहे है। जिसमें थाना प्रभारी, बिट प्रभारी एवं स्टॉफ तथा राजस्व, आबकारी विभाग एवं पंचायत विभाग के अधिकारियों को भी सम्मिलित किया जा रहा है। उक्त शिविर एवं जागरूकता अभियान में राजपत्रित अधिकारी भी अधिक से अधिक कार्यक्रमों में सम्मिलित हो रहे है।
पुलिस अधीक्षक श्री सूरज कुमार वर्मा ने पुलिस अधिकारियों को निर्देश दिए कि अवैध शराब की बिकी को प्रतिबंधित करने हेतु सामुदायिक पुलिसिंग के तहत जन समस्या, शिकायत निवारण आयोजित कर, ग्राम एवं नगर सुरक्षा समिति को सक्रिय करने के निर्देश दिए है, जिससे कि पुलिस को अवैध गतिविधियों की सूचना प्राप्‍त हो सकें। नशामुक्ति शिविर – उक्त गांवों में नशामुक्ति शिविर का आयोजन कर नशे से होने वाले नुकसान, दुष्प्रभाव के बारे में जानकारी देने तथा ऐसे व्यक्तियों को जो नशे के आदि हो चुके है उन्हें चिन्हित कर समाज की मुख्य धारा में लाने हेतु प्रयास करने के निर्देश दिए गए है। अवैध शराब बिक्री अवैध व खुली रूप से विक्रय होने वाली शराब तथा जहरीली शराब के बारे में आम जनता को जागरूक करने के निर्देश भी पुलिस अधीक्षक द्वारा दिए गए है। प्रत्येक गांव में प्रतिष्ठित, प्रभावशील व्यक्तियों के मोबाईल नंबर प्राप्त कर उनसे सतत सम्पर्क रखने, उक्त गांव में संदिग्ध व्यक्ति जो आपराधिक प्रवृत्ति में लिप्त रहते है, की सूची प्राप्त कर विधिअनुसार उनके विरूद्ध कार्यवाही करने, शिविर के दौरान प्रत्येक गांव के प्रतिष्ठित लोगों जिनमें ग्राम पंचायत के पंच, सरपंच आदि से सम्पर्क कर, अधिक से अधिक लोगों को नशे से होने वाली बीमारियों एवं दुष्प्रभाव के संबंध में जागरूक करने के निर्देश भी पुलिस अधीक्षक द्वारा दिए गए है।
नशा मुक्ति जन-जागरूकता शिविर 4 से 13 अगस्‍त 2021 तक विभि‍न्‍न गॉवों में आयोजित किए जा रहे है। 7 अगस्‍त को तुमडा, आंकली,खेडीखेमपुरा, रूपपुरा,लापिया,परपडिया,कानोड,आंबाखुर्द,परलाई,ताल,भगवानपुरा,दारूखेडा, में 8 अगस्‍त को सुखानन्‍द,चडौल,तरोली,पटियाल,जराड,सेमार्डा,आंत्रीमाता,प्रतापपुरा, 9 अगस्‍त को नागथून,कुंतली, माताकाखेडा,धोगवा,फुसरिया, खेरमालिया,10 अगस्‍त को गौठा, कीरता, राणावतखेडा, कछाला, डाबडाकला बामनबर्डी, 11 अगस्‍त को दौलतपुरा, काबरिया, गुठलाई, चेनपुरा, कदवासा, धारडी, 12 अगस्‍त को बोरखेडीतालाब, बडी, अंगौरा, ग्‍वालियरखुर्द , धामनिया एंव 13 अगस्‍त को ग्‍वालियरकला, सोनियाना, ग्‍वालदेवीया में नशामुक्ति जन जागरूकता शिविर आयोजित किया जा रहा है। पुलिस अधीक्षक द्वारा इन शिविरों के लिए नामजद पुलिस अधिकारियों की डयूटी लगाई गई है।

Leave a Reply