22 ग्राम पंचायतें फिर बनेगी नगर पंचायत, शिवराज कैबिनेट ने पिछली सरकार का फैसला पलटाउज्जैन संभाग ब्यूरो चीफ एस एस यादव

भोपाल—–मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने पहली बार वर्चुअल कैबिनेट बैठक की, इस बैठक में 22 ग्राम पंचायतों को फिर से नगर पंचायत बनाने के साथ-साथ कई अहम फैसले लिए गए हैं.
भोपाल। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने पहली बार वर्चुअल कैबिनेट बैठक की है. इस बैठक में 22 ग्राम पंचायतों को फिर नगर पंचायत बनाने के साथ ही कई और अहम फैसले लिए गए हैं. कैबिनेट बैठक में आज चंबल प्रोग्रेस-वे को भी मंजूरी दी गई है. कैबिनेट ने फैसला लिया है कि प्रोग्रेस-वे के लिए जमीनों के अधिग्रहण के दौरान किसानों को जमीन के बदले जमीन दी जाएगी. सागर जिले की मालथौन, बांदरी, बिलहरा व सुरखी, शिवपुरी जिले की रन्नौद, भिंड जिले की रौन व मालनपुर, खरगोन जिले की बिस्टान, बड़वानी जिले की ठीकरी, धार जिले की बाग व गंधवानी, रीवा जिले की डभौरा, सिवनी जिले की केवलारी व छपारा, हरदा जिले की सिराली, बैतूल जिले की घोड़ाडोंगरी व शाहपुर, मंदसौर जिले की भैंसोदा मंडी, शहडोल जिले की बकहो, अनूपपुर जिले की डोला व डूमरकछार और उमरिया जिले की मानपुर ग्राम पंचायतों को दोबारा नगर पंचायत बनाया जाएगा, इसे पिछली सरकार ने नगर पंचायत से ग्राम पंचायत बना दिया था.कैबिनेट के अहम फैसले
22 ग्राम पंचायतों को फिर नगर पंचायत बनाया जाएगा.मुख्यमंत्री ने कोरोना संक्रमण को देखते हुए बेड की संख्या 8 हजार से बढ़ाकर 12 हजार करने के दिए निर्देश.आईसीयू की संख्या 827 से बढ़ाकर 1700 तक करने के निर्देश.मुख्यमंत्री ग्रामीण पथ विक्रेता ऋण योजना को भी कैबिनेट की मिली मंजूरी.फसल बीमा योजना 2020-21 को कैबिनेट की मंजूरी, बीमा कंपनियों का चयन खुली निविदा के आधार पर किया जाएगा.कैंपा योजना के तहत जल संरक्षण, वन्य प्राणी संरक्षण और नगर विकास के कामों को किया जाएगा, जिस पर कैबिनेट ने मुहर लगाई है.

About Surendra singh Yadav

View all posts by Surendra singh Yadav →

Leave a Reply