तोडट्टे का दूसरा नाम रउफ खान: नारकोटिक्स विंग के सब इंसपेक्टर रउफ खान की जमकर अवैध वसूली, रउफ खान का तस्करों से गठजोड, प्रत्येक एनडीपीएस एक्ट में लाखों के तोडबटटे, बडे अधिकारी जांच करें तो एसआई रउफ खान का करोडों का लेन—देन आ जाएगा सामने
नीमच। नारकोटिक्स विंग नीमच में पदस्थ

सब इंसपेक्टर रउफ खान का बडे—बडे तस्करों से गठजोड सामने आया है। एसआई की मध्यप्रदेश ओर राजस्थान में जमकर वसूली जारी है। डोडाचूरा हो या फिर अफीम के प्रकरण, हर प्रकरण में एसआई द्वारा लाखों के तोड किए जा रहे है। बडे तस्करों को छोडा जा रहा है वहीं दूसरी और गरीब किसानों को आरोपी बनाकर सलाखों के पीछे जा रहा है। बीते दो वर्ष के दौरान एसआई ने करोडों की अवैध वसूली की है। कुख्यात तस्कर बाबू उर्फ जयकुमार सिंधी और एसआई रउफ खान का गठजोड था। पूर्व में रउफ खान ने बाबू की डोडाचूरा से भरी गाडी पकडी थी, एक करोड रूपए लेकर एसआई ने बाबू को छोड दिया, वहीं से बाबू सिंधी से कार्यवाही नहीं करने की बात पर एसआई द्वारा मौटी बंदी ली जाती थी। यह तो एक प्रकरण उदाहरण के रूप में है, ऐसे कई तस्कर है, जिनका संरक्षणदाता रउफ खान बना हुआ है। दो साल के दौरान कई तोडबटटे किए, जब कोई मीडियाकर्मी खबरें प्रकाशित करता है तो उसे मैनेज करने का खेल भी चला।
नीमच—मंदसौर में ही क्यों जमा है रउफ खान— राज्य शासन ने बीते वर्ष रउफ खान का स्थानांतरण कर दिया, नीमच और मंदसौर जिले में लाखों का तोडबटटा का भूत रउफ खान पर इतना सवार है कि राज्य शासन को ही चुनौती दे डाली और हाईकोर्ट में याचिका लगा दी गई। यह पहला मामला है जब नारकोटिक्स विंग का कर्मचारी राज्य शासन के खिलाफ गया हो, मंदसौर विधायक यशपाल सिसौदिया ने नारकोटिक्स विंग के एसआई रउफ खान के खिलाफ शिकायत की थी। उनकी शिकायत पर कार्यवाही हुई थी। बाद में रउफ खान ने खुद को इंदौर अटैच करवाया और चुपचाप नीमच में आमद दे दी और इन दिनों जमकर तोडबटटे और अवैध वसूली की जा रही है।

Leave a Reply