मंत्री बिसाहुलाल का मातृषक्ति के लिए दिया बयान अपमानजनक – श्री राजपूत करणी सेना मूल जिला नीमच में आक्रोश

नीमच 26 नवम्बर 2021 महिला सषक्तिकरण एवं उनके अधिकार में समानता की बात करते करते म.प्र.षासन मंत्री बिसाहुलाल ने उप तहसील फनुगा में आयोजित कार्यक्रम में सवर्ण समाज की महिलाओं को घरों से खींचकर बाहर निकालने की बात कहकर समस्त मातृषक्ति का अपमान कर दिया। इस बयान से सभी सवर्ण समाज में आक्रोष है। जहां एक ओर म.प्र.सहित केन्द्र की सरकार सहित पूरी दुनिया नारी षक्ति को आधी दुनिया का सम्मान देती है और सभी लोग नारी षक्ति को सम्मान अधिकार के लिए सभी संघर्ष प्रयास कर रहे हैं। भाजपा सरकारें अनेक महिला सषक्तिकरण की योजनाएं चला रही हैं लेकिन भाजपानित शिवराजसिंह की म.प्र.सरकार के मंत्री बिसाहूलाल ने अपमानजनक टिप्पणी कर नारी षक्ति का अपमान कर दिया और स्वयं को विवादों के घेरे में डाल लिया। उक्त बात श्री राजपूत करणी सेना मूल प्रदेश उपाध्यक्ष शक्ति सिंह जी राठौड़ नयागांव नीमच जिला अध्यक्ष विक्की बना बागरेड ने प्रेस को जारी बयान में कही।
मंत्री लाल ने राजपूत समाज की महिलाओं को घरों में कैद करने जैसे बेबुनिया झूठे आरोप भी लगाएं। जबकि सर्वविदित है कि म.प्र. में अनेक राजपूत समाज की महिलाएं विधायक सरपंच मंत्री तक के पदों पर रहकर अनेक सेवा कार्य कर रही हैं और पूर्व में भी किया है।
प्रदेश उपाध्यक्ष व जिलाध्यक्ष ने कहा कि नारी रणचण्डी, दुर्गा बनकर अपमान करने वाले राक्षसों का संहार कर सकती है। इसलिए मंत्री बिसाहूलाल सार्वजनिक रूप से माफी मांगें और युवा षिवसेना म.प्र.षासन के मुख्यमंत्री से मंत्री बिसाहूलाल को मंत्री पद से बर्खास्त करने की मांग करती है और मंत्री बिसाहूलाल के बयान की तीव्र निंदान करती है और अपना आक्रोष व्यक्त करती है। यदि षीघ्र मंत्री लाल ने माफी नहीं मांग राजपूत करणी सेना मूल एवं सर्व राजपूत समाज उग्र आन्दोलन को मजबूर होगी।

About Surendra singh Yadav

View all posts by Surendra singh Yadav →

Leave a Reply