हमारा बिंद हमें लौटा दो


” भोपाल से संतोष योगी की खबर विंध्य क्षेत्र की माटी माही रतनन के भरमार है!
सबसे सुंदर सबसे निकही धरती हवे हमार हो !!”
साथियों फिर सोचें :-
1. मजदूरी के लिए हमें विंध्य क्षेत्र से अपने घर परिवार छोड़कर क्यों जाना पड़ता है क्या हमारा क्षेत्र इतना भी सक्षम नहीं कि जब हमें मजदूरी ही करना है तो अपने क्षेत्र में क्यों ना करें! (लॉकडाउन के दौरान हमें अपनी जान भी नहीं गवानी पड़ेगी)
2. बच्चों की व्यवस्थित शिक्षा हेतु विंध्य क्षेत्र से बाहर क्यों भेजना पड़ता है क्या हमारे क्षेत्र में शिक्षा की भी व्यवस्था होना जरूरी नहीं
3. जब हमारे क्षेत्र की जनता बीमार पड़ती है तो दवाई के लिए उत्तर प्रदेश एवं महाराष्ट्र के नागपुर क्षेत्र में क्यों जाना पड़ता है क्या हमारे क्षेत्र में दवाई की व्यवस्था नहीं होनी चाहिए
4. खेतों के लिए सिंचाई हेतु पानी की व्यवस्था नहरों द्वारा आज तक नहीं है जबकि हमारे क्षेत्र से नहरे अन्य राज्यों के खेतों को पानी पहुंचाती हैं
5. हमारे क्षेत्र में राजमार्ग के अलावा भी गांव से शहर की ओर जाने वाले मार्ग हैं जिनकी स्थिति आज भी जर्जर है क्या हम सभी को आज जरूरत नहीं कि हमारी सड़कें भी डामर या सीमेंटेड हो गड्ढे मुक्त हो
6. प्रदेश के विभिन्न शहरों में हवाई अड्डे हैं रेलवे स्टेशन जहां हर शहर के लिए रेलगाड़ी जाती हैं लेकिन क्या विंध्य क्षेत्र इस लायक नहीं कि वहां भी अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा हो रेलवे स्टेशन जहां से सभी शहरों के लिए रेलगाड़ी चलाई जा सके
7. जब भारत देश के विभिन्न राज्यों के बच्चे अंतरराष्ट्रीय खेल प्रतियोगिता में भाग लेते हैं तो क्या हम विंध्य
क्षेत्र वाले पीछे रहने का कारण कभी सोचे आप बताएं हमारे विंध्य क्षेत्र में क्या खेलने हेतु अंतरराष्ट्रीय स्टेडियम की व्यवस्था है
जबकि मध्य प्रदेश के अन्य क्षेत्रों से विंध्य क्षेत्र की तुलना की जाए तो विंध्य क्षेत्र में सीमेंट कोयला बिजली चूना कत्था बॉक्साइट हीरा सौर ऊर्जा का प्लांट धार्मिक स्थल मैहर चित्रकूट विभिन्न जलप्रपात प्राकृतिक संपदा से भरपूर जंगल पर्वत पहाड़ पवित्र नदियां एवं विभिन्न प्रकार की प्राकृतिक संपदा उपलब्ध होने के बावजूद भी उपरोक्त जरूरत हमारे क्षेत्र को उपलब्ध नहीं है !
साथियों हम जीवन में जो भी करते हैं आने वाले पीढ़ी के लिए करते हैं जिस तरह का भटकाव पूर्ण जीवन हमारा आपका रहा आने वाली पीढ़ी का ना हो उसके लिए विंध्य क्षेत्र की जनता की जरूरत की चीजें उपलब्ध कराने के लिए हमारा परम कर्तव्य है और यह तभी संभव है जब हम पृथक विंध्य प्रदेश की मांग करेंगे जब छोटा राज्य बनेगा हमारे राज्य में हर तरह की संपदा उपलब्ध होगी तो निश्चित ही क्षेत्र का विकास होगा हम सदा छले गए हैं तभी तो हमारे राज्य का जब विलय हुआ उस समय उप राजधानी के रूप में रीवा को बनना था लेकिन रीवा मध्य प्रदेश का सबसे पिछड़ा क्षेत्र के रूप में जाना जाता है अब वह समय आ गया है कि हमें एक-एक व्यक्ति में जागरूकता लानी होगी और हम सभी को जागरूक होकर अपने अधिकार कि मांग करना पड़ेगा तभी जाकर हम अपना विंध्य प्रदेश बना पाएंगे !
“हम नहीं किसी से भीख मांगते हम अपना अधिकार मांगते हमारा दिन हमें लौटा दो” जय जय विंध्य प्रदेश

Leave a Reply