भोपाल से संतोष योगी की खबर प्रांतीय कार्यालय युवा प्रकोष्ठ मध्य प्रदेश भोपाल द्वारा चलाए जा रहे कार्यक्रम में योग हमारी मानसिक भावनाओं, शारीरिक स्थिति व आत्मिक शक्तियों के द्वार खोलता है। योग के आसन व प्राणायाम हमे शारीरिक दृष्टि से सुदृढ़, मानसिक दृष्टि से सकारात्मक व तक भावनात्मक दृष्टि से पवित्र बनाता है। स्थूल जगत में जब जब भी लड़ाई लड़ी जाती है तो लड़ाई मात्रा हथियारों से नहीं बल्कि सैनिकों के पुरुषार्थ, इच्छाशक्ति व शौर्य से लड़ी जाती है। कोरोना की महामारी से समाज को लड़ने के लिए आज ऐसी ही इच्छाशक्ति की आवश्यकता है। ये बात अखिल विश्व गायत्री परिवार युवा प्रकोष्ठ मध्य प्रदेश द्वारा चलाए जा रहे तीन दिवसीय (24से25 अप्रैल) ऑनलाइन प्रज्ञा योग शिविर में योगाचार्य पंडित मेवालाल पाटीदार मध्य प्रदेश का मिनी शांति कुंज सेंधवा द्वारा संपन्न कराया जा रहा है। श्री पाटीदार जी ने कहा की कोरोना की वैश्विक महामारी में चारों ओर भय व आशंका से उपजी नकारात्मकता व्यक्ति के शारीरिक स्वास्थ्य के साथ मानसिक स्वास्थ्य को भी कमजोर कर रही है जिससे शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता प्रभावित हो रही है ऐसे में शरीर के स्वास्थ्य के साथ मानसिक सकारात्मकता के लिए प्रज्ञा योग एक प्रभावी माध्यम है। ऑनलाइन शिविर में व सोशल मीडिया के माध्यम से प्रदेश भर के सैकड़ों युवा साथी प्रज्ञा योग को सीख रहे हैं। शिविर में आज 25अप्रैल को मानवी विद्युत शक्ति को जागृत करने हेतु विशेष योग करवाया गया वही सूर्यभेदी, नाड़ी शोधन व उज्जाई प्राणायाम को भी साधकों ने सीखा। इस दौरान अखिल विश्व गायत्री परिवार युवा प्रकोष्ठ के समन्वयक विवेक चौधरी सह संयोजक अमर धाकड़ मनोज तिवारी, रमेश नागर पंकज पाटीदार आदि अलग-अलग जिलों से शिविर में जुड़े। 🙏🙏रमेश नागर प्रांतीय कार्यालय युवा प्रकोष्ठ भोपाल 9425080369

Leave a Reply