समूह की महिलाओं से किस्त लेने आए कर्मचारी को थाने ले गई पुलिस

DG NEWS SEHORE

सीहोर से सुरेश मालवीय की रिपोर्ट

सीहोर, दोराहा । कोरोना संक्रमण के चलते लॉकडाउन लगा हुआ है। वहीं लॉकडाउन लगने की वजह से लोगों के कारोबारी हालत ठीक नहीं नजर आ रहे हैं। वहीं बात की जाए तो सरकार भी बड़े-बड़े दावे कर रही है, लॉकडाउन के चलते काम धंधे बंद होने से सभी लोग परेशान हैं ऐसे में समूह की क़िस्त की मार झेल रहे उन गरीबों का दर्द, झलकर जब सामने आया। उन पर मुसीबतों का पहाड़ टूट गया। पीड़ित महिला गुड्डी बाई, सावित्री बाई, छोटी बाई, रानो बी व अन्य महिलाओं ने बताया कि अभी हम क़िस्त नहीं दे पाएंगे। अभी हमारे काम धंधे ठप पड़े हैं। जब हमारे काम धंधा शुरू हो जाएंगे तो हम में जो समूह का लोन लिया है। उसकी किस्त हम बराबर देंगे। साहब हमारे ऊपर क़िस्त को लेकर दबाव बना रहे हैं। ऐसा ही एक मामला अहमदपुर में गुरुबार को देखने को मिला, प्राइवेट समूह बुलडाणा अर्बन के कर्मचारी जब समूह की क़िस्त लेने अल सुबह से आ गए और महिलाओं को घर-घर बुलाकर एक जगह एकत्रित किया। महिलाओं से क़िस्त के पैसे को लेकर समूह के कर्मचारियों ने दवाव बनाना शुरू किया तो महिलाओं ने मीडिया कर्मी और डायल 100 बुला ली। वहीं सूचना मिलने पर मौके पर अहमदपुर थाना प्रभारी शैलेंद्र सिंह तोमर पहुंचे और समूह के कर्मचारी से चर्चा कर उन्हें अपने साथ थाने ले गए। वहीं पीड़ा से परेशान महिलाओं को थाना प्रभारी शैलेंद्र सिंह तोमर ने कहा कि अभी इस संकट में आप पर कोई लोन वाला दवाव नहीं बना सकता न पैनल्टी लगा सकता है। न ही इसका कोई ज्यादा पैसा आपको देना है पैसा लिया है तो आपको चुकाना तो पड़ेगा। फिलहाल लॉकडाउन में आपके हालात ठीक नहीं है मैं जानता हूं। आप सभी महिलाएं चिंता न करें लॉक डाउन के चलते अब कोई किस्त लेने आप पर कोई समूह वाला दबाव नहीं बनाएगा। थाना प्रभारी शैलेंद्र सिंह तोमर की बात सुन महिलाओं ने राहत की सांस ली

Leave a Reply