आशा ऊषा और आशा सहयोगीनि संघ ने विधायक सुदेश राय को सौंपा ज्ञापन

DG NEWS SEHORE

शासन द्वारा दिये गये आश्वासन पर हड़ताल स्थगित करने के बावजूद भी अभी तक नही हुई मांग पुरी
आशा ऊषा और आशा सहयोगीनि महिला कार्यकर्ताओं में आक्रोष व्याप्त

सीहोर से सुरेश मालवीय की रिपोर्ट 8871288482

सीहीर । आशा ऊषा और आशा सहयोगीनि संघ की जिलाध्यक्ष श्रीमति चिन्ता चौहान के नेतृत्व में सीहोर विधायक श्री सुदेश राय को ज्ञापन सौंपते हुए बताया कि राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन में कार्यरत आशा एवं आशा सहयोगी देश एवं प्रदेश में मातृ मृत्यु एवं शिशु मृत्यु की दर को रोकने के साथ स्वास्थ्य सेवाओं को संचालित करने में भी महत्वपूर्ण भूमिका निभा रही है । कोरोना महामारी के खिलाफ सरकार के अभियान में भी आशा एवं सहयोगियों ने अपनी जान को जोखिम में डाल कर काम किया और कोविड ड्यूटी के दौरान आधा दर्जन आशाओं ने अपनी जान गंवाई है । सरकार के स्वास्थ्य सम्बन्धी विभिन्न अभियानों के चलते आशा एवं सहयोगियों पर काम का बोझ लगातार बढाया जा रहा है, लेकिन वेतन में किसी तरह की बढोत्तरी नही की । इसके बाद भी आशा एवं सहयोगी इतनी महत्वपूर्ण एवं आवश्यक सेवायें दे रही है । मध्य प्रदेश में सरकार आशाओं को केवल 2000 रुपये मासिक का वेतन निश्चित प्रोत्साहन राशि दे रही हैं , जिससे अधिकांश आशायें दयनीय स्थिति में अपनी व परिवार की गुजरबसर करने के लिये विवश है । इस अमानवीय शोषण से राहत पाने के लिये राज्य सरकार की ओर से अतिरिक्त वेतन दिये जाने की मांग को लेकर प्रदेश की आशाओं ने 1 जून 2021 से प्रदेश व्यापी अनिश्चितकालीन हडताल की । इस हड़ताल के दौरान 24 जून को भोपाल में राज्य स्तरीय प्रदर्शन के दौरान प्रतिनिधिमंडल से चर्चा के दौरान मिशन संचालक , राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन ने आशाओं के लिये 10,000 रुपये मासिक का मानदेय निश्चित प्रोत्सहन राशि एवं इसके अनुरूप सहयोगियों के मानदेय का प्रस्ताव राज्य सरकार के पास भेजने की बात की , जिसे सभी समाचारपत्रों ने दूसरे दिन प्रमुखता से प्रकाशित किया था । इसके बाद प्रतिनिधिमंडल से मुलाकात के दौरान स्वास्थ्य मंत्री महोदय के द्वारा दिये गये आश्वासन के बाद 35 वें दिन 5 जुलाई को हडताल स्थगित किया था । स्वास्थ्य मंत्री के द्वारा दिये गये आश्वासन के बाद अब 30 दिन पूरा होने जा रहा है , लेकिन वेतन वृद्धि की मांग को पूरा करने की दिशा में अब तक कोई पहल नही होना चिंताजनक है । इस स्थिति में आशा एवं सहयोगियों को न्याय दिलाने हेतु महोदय की ओर से विधानसभा के मानसून सत्र इस प्रकरण में हस्तक्षेप की जरूरत है । इस सम्बन्ध में आशा ऊषा और आशा सहोगीनि महिला कार्यकर्ताओं ने क्षेत्रीय विधायक सुदेश राय को ज्ञापन के माध्यम से जानकारी बताया कि आन्ध्र प्रदेश की आशाओं की तरह एवं प्रदेश में आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं की तर्ज पर मध्य प्रदेश सरकार की ओर से आशा एवं आशा सहयोगियों को 10,000 रुपये का अतिरिक्त वेतन तत्काल दिये जाने हेतु , इस विषय को 9 अगस्त से शुरू होने वाले मनसून सत्र में विधानसभा के उठाकर प्रदेश की आशा एवं आशा सहयोगियों को न्याय दिलाने का प्रयास करें ।

Leave a Reply