रिमझिम फुहारो में सारिका ने की कोविड जागरूकता की बौझार

DG NEWS SEHORE

सीहोर से सुरेश मालवीय की रिपोर्ट 8871288482

टीके की दूसरी डोज के लिए बारिश को न बनने दे बाधा

मास्क को भूलना जीवन की बड़ी भूल हो सकती है सारिका घारू टीकाकरण की दुसरी डोज के लिए चला रही जागरूकता कार्यक्रम

सीहोर । कहीं बरसात में वेक्सीनेशन सेंटर पहुंचने का विचार न बदल जाये। टीके की दूसरी डोज भी उतनी ही जरूरी है जितनी कि पहली थी। अब जल्दी ही कोवेक्सीन तथा कोविशील्ड के साथ स्पूतनिक एवं अन्य टीके आने वाले हैं इन सब बातों को गीतों के माध्यम से आदिवासी क्षेत्र के ग्रामों में पहुंचाने रिमझिम बरसात के बीच विज्ञान प्रसारक सारिका घारू पहुंच रही हैं। जागरूकता कार्यक्रम में सारिका ने बताया कि कोविड के नये प्रकरण कम आने के कारण आमलोगों में इससे बचाव के प्रति गंभीरता कम होती जा रही है। मास्क की चेहरे से मित्रता मिट गई है। दूरिया पुनः सिमट गई हैं। लापरवाही के कारण कोविड को आमंत्रित करने का वातावरण तैयार होता जा रहा है। कोविड की तीसरी लहर से बचाव के लिये ग्रामीण तथा शहरी दोनो वर्गो का सर्तक रहना जरूरी है। सारिका ने अपील की अधिकांश लोगों को अब टीके की दूसरी डोज लगने की तिथि आ रही है। इसको गंभीरता के साथ लगवायें। टीकाकरण ही कोविड से बचाव का अंतिम उपाय है। पूर्ण टीकाकरण होने तक शैक्षणिक एवं आर्थिक गतिविधियां प्रभावित होती रहेंगी।

Leave a Reply