सर्दी में ही नदी व तालाब हो रहे खाली, प्रशासन नहीं दे रहा ध्यान

DG NEWS SEHORE

सीहोर से सुरेश मालवीय की रिपोर्ट

सीहोर, आष्टा । क्षेत्र की नदियों और बैराजों सहित अन्य जल स्रोतों से चने और गेहूं की फसल की बोवनी के लिए खेतों में सिंचाई की जा रही है। इससे जल स्रोतों में जलस्तर लगातार घटता जा रहा है। नगर की जीवनदायिनी पार्वती नदी, खेड़ापति कमल तालाब, काला तालाब, अन्य तालाब तथा नदी अभी से खाली नजर आने लगे हैं। इसके अलावा अन्य नदी का जलस्तर भी धीरे-धीरे कम होता जा रहा है। जलस्तर कम होने से क्षेत्र के दर्जनों गांवों में कई हैंडपंपों ने पानी देना कम कर दिया है। पीएचई के सामने हैंडपंपों में पाइप डालने की समस्या खड़ी हो गई है। नदियों से चल रही सिंचाई पर प्रशासन लगाम लगाने के लिए कोई पहल नहीं कर रहा है। इस स्थिति में आशंका है कि आने वाले दिनों में जल स्तर और भी घट सकता है। इससे लोगों को गर्मियों में परेशान होना पड़ सकता है।

इन तालाबों से निकाला जा रहा है पानी

नगर की वार्ड 7.15 के पास स्थित खेड़ापति कमल तालाबए काला तालाब सहित आसपास के तालाबों में रेत निकालने व सिंचाई करने के लिए पानी निकाला जा रहा है। खासबात यह है कि किसानों ने सोयाबीन की फसल के बाद रबी फसल पर पूरी मेहनत कर रहे हैं। लगातार सिंचाई होने से पार्वती नदी में जल स्तर काफी कम हो गया है। नदी का पानी जगह-जगह सिमट गया है। गर्मी में लोगों को होगी पानी की परेशानी पाइपों का हो रहा उपयोग फसलों की सिंचाई के लिए किसान 5 से लेकर 20 हार्सपॉवर के पंपों का उपयोग कर रहे हैं। एक-एक किमी दूर तक तीन से पांच इंच के पाइपों से पानी सप्लाई किया जा जा रहा है। इसके चलते नदियां व तालाब तेजी से खाली हो रहे हैं। यदि सिंचाई की यही रफ्तार रही तो जनवरी तक नदियां पूरी तरह से सूख जाएंगी। 10 से 15 फीट आई भूमिगत जल में गिरावट क्षेत्र में इस बार किसानों ने बड़ी तादात में गेहूं की बोवनी में जुटे हुए है। इसके चलते सभी किसान पानी के लिए जद्दोजहद करते दिखाई दे रहे हैं। हालात ये है कि सिंचाई के कारण नदियों का जल स्तर तेजी से नीचे जा रहा है। दूसरी ओर नलकूपों में भी जलस्तर घट रहा है। 10 से 15 फीट भूमिगत जल में गिरावट आने से कई गांवों में हैंडपंप बंद हो गए हैं। पीएचई के लिए इन हैंडपंपों में पाइप लाइन डालना मजबूरी बन गया है। जब तक इनमें पाइप नहीं डाले जाएंगे उनसे पानी निकालना संभव नहीं है।

इनका कहना है

स्थित को दिखवाकर कार्रवाई की जाएगी आपके द्वारा बताया गया है कि क्षेत्र के तालाबों व नदियों को खाली किया जा रहा है। इस संबंध में मुझे जानकारी नहीं है। यदि ऐसा है तो मौके स्थिति को दिखवाकर कार्रवाई की जाएगी ।

विजय मंडलोई एसडीएम आष्टा

Leave a Reply